भारत के दबे - कुचले लोगों की लड़ाई लड़ें कांग्रेसी- राहुल गाँधी

कांग्रेस,राहुल गाँधी



नई दिल्ली।।देश के राजनैतिक दलों ने 2019 लोकसभा चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी आगामी चुनाव के मद्देनजर लगातार कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक कर रहे हैं और चुनावी रणनीति को लेकर चर्चा कर रहे हैं।2019 को ध्यान में रखते हुए राहुल ने कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) का गठन किया है। जिसके बाद उन्होंने रविवार को नई कार्यसमिति की पहली बैठक बुलाई है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि नवगठित कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) अतीत , वर्तमान और भविष्य के बीच का सेतु है। साथ ही उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे भारत के दबे - कुचले लोगों की लड़ाई लड़ें। 

गांधी ने आज नवगठित कांग्रेस कार्य समिति की पहली बैठक की अध्यक्षता की और कहा कि यह अनुभव और जोश के समावेश वाली इकाई है। 

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपने संबोधन में कांग्रेस अध्यक्ष को भरोसा दिलाया कि वह और दूसरे सभी कांग्रेसजन भारत के सामाजिक सद्भाव और आर्थिक विकास को बहाल करने के मुश्किल भरे काम को पूरा करने में उनके साथ हैं। 

सिंह ने कहा , ‘‘ मैं राहुल जी को विश्वास दिलाता हूं कि हम सामाजिक सद्भाव और आर्थिक विकास को बहाल करने के मुश्किल भरे काम को पूरा करने उनका पूरा सहयोग करेंगे। ’’ 

कांग्रेस अध्यक्ष ने भारत की आवाज के तौर पर कांग्रेस की भूमिका तथा वर्तमान एवं भविष्य की इसकी जिम्मेदारी के बारे में भी याद दिलाया और आरोप लगाया कि भाजपा संस्थाओं , दलितों , आदिवासियों , पिछड़ों , अल्पसंख्यकों और गरीबों पर हमले कर रही है। 

गांधी ने कहा कि नवगठित कार्यसमिति अनुभव और जोश का समावेश है तथा यह अतीत, वर्तमान और भविष्य के बीच सेतु का काम करेगी।

पार्टी के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा कि 12 राज्यों में कांग्रेस मजबूत है। ऐसे में पार्टी 150 सीटें जीत सकती है। उन्होंने कहा कि बाकी के राज्यों में गठबंधन की भूमिका अहम होगी।

ज्ञात हो कि कांग्रेस कार्यसमिति कांग्रेस पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई है, जिसमें राहुल गांधी ने अनुभवी और युवा नेताओं के बीच संतुलन बनाने का प्रयास किया है। सीडब्ल्यूसी में 23 सदस्य, 18 स्थायी आमंत्रित सदस्य और 10 आमंत्रित सदस्य शामिल किए गए हैं। राहुल गांधी के नेतृत्व वाली कार्य समिति में कई ऐसे नेताओं को जगह नहीं मिली है जो सोनिया गांधी की अध्यक्षता के दौरान कार्य समिति के अहम सदस्य हुआ करते थे।
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget