भारत का सीरियल किलर बना व्हाट्स ऐप,अब तक दर्जनों लोगों की मौत

सीरियल किलर,व्हाट्स ऐप,अफावाहबाज़


डिजिटल टीम
उर्जांचल टाइगर न्यूज नेटवर्क 

सोशल मिडिया का लोकप्रिय ऐप व्हाट्स ऐप की पहचान कुछ दिग्भ्रमित लोगों के कारण अब सीरियल किलर बनता जा रहा है। देश में व्हाट्स ऐप पर सक्रीय अफावाहबाज़ के अफवाह के कारण दर्जनों लोगों को अब तक अपनी जान गंवानी पड़ी है।

इन्हीं अफवाहबाजो के कारण 01जुलाई2018 को महाराष्ट्र में पांच लोगों को जान गवानी पड़ी।महाराष्ट्र के आदिवासी बाहुल्य इलाके में बच्ची से जानकारी लेना पांच युवकों को मंहगा पड़ गया।ग्रामीणों ने  बच्चा  चोर समझ कर  दम भर पिटाई कर दी,जिससे पांचो युवकों की मौत हो गई।मामला महाराष्ट्र के धुलिया जिले का है।

पुलिस इस मामले में 10लोगों को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है।महाराष्ट्र के गृह राज्यमंत्री मंत्री ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

पुलिस के अनुसार कुछ अन्य लोगों के साथ 5युवकों को धुले जिले के रेनपडा इलाके में राज्य परिवहन की बस से उतरते देखा गया।उनमें से  एक ने जब एक बच्ची से बातचीत करने का प्रयास किया तो साप्ताहिक रविवार बाजार के लिए वहां मौजूद लोगों ने पिटाई शुरू कर दी।दम भर पिटाई से पांचो युवक की मौत हो गई।

असम में भी पिटाई 

बच्चा चोरी के आरोप में हत्या का यह कोई पहला मामला नहीं है।इससे पहले हाल ही में असम के कर्बा आँगलोन्स जिले में भीड़ ने दो युवक को पीट पीट कर हत्या कर दी थी।भीड़ को शक था कि दोनों युवक बच्चों को अपरहण करने वाले गिरोह का सदस्य है।जबकि हकीकत यह था के दोनों दोस्त थे एक कारोबारी और दूसरा साउंड इंजीनियर। दोनों को भीड़ ने वाहन से उतारा और बांध कर बेरहमी से तब तक पीटा जब तक दोनों की मौत नहीं हुई।

त्रिपुरा में ऐसी घटना

त्रिपुरा में गुरुवार को मॉब लिंचिंग की घटना सामने आई है। भीड़ ने बच्चा चोरी के शक में कपड़ा बेचने आए तीन लोगों को जमकर पिटाई की। जिसमे एक व्यक्ति की मौत हो गई और एक गंभीर रूप से घायल हो गया।यह घटना पश्चिमी त्रिपुरा के आदिवासी बहुल मुराबरी गांव में घटी।

छत्तीसगढ़

22 जून को छत्तीसगढ़ के सरगुजा ज़िले में एक अज्ञात व्यक्ति को बच्चा चोर के शक में भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला।

मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले में घटी ऐसी घटना 

मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले में बच्चा चोर गिरोह का सदस्य समझ के माड़ा थाना क्षेत्र में ग्रामीणों ने बहरूपिये का स्वांग करने वाले एक युवक की बेहरमी से पिटाई कर दी।घटना 27जून 2018की है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार की शाम माड़ा थाना क्षेत्र के राजमिलान में साड़ी पहने हुए जिस युवक को बच्चा चोर गिरोह का सदस्य समझ कर बुरी तरह से पीटा है, उस युवक का बच्चा चोर गिरोह से कोई लेना देना नहीं है।पीड़ित युवक रामभरोसे सीधी जिले के ग्राम बड़वानी मझौली का रहने वाला है।पुलिस ने तत्परता दिखाई और युवक को भीड़ से बचा के निकलने में सफल रही।इस मामले में दोषियों को पकड़ा गया है जिसमे व्हाट्सएप के अफ्वाह्बाज़ पत्रकार पर भी शामिल है।
सवाल यह है के देश में ऐसे अफ़वाहबाज़ अचानक बढ़ गए या यह किसी सुनियोजित तरीके से किया जाने वाला अपराधियों का गिरोह है? कभी गौ रक्षा के नाम पर तो कभी लव जिहाद के नाम पर अब बच्चा चोर के नाम पर भीड़ का इकठ्ठा हो जाना और इतना हिंसक हो जाना के एक इंसान को क्रूरतापूर्वक पिट पिट कर मौत की नींद सुला देना,ऐसी अमानवीय मानसिकता कहाँ से आगई?  कौन है जो ऐसी मानसिकता को पोषण देता है?जो भी है सरकार को ऐसे अराजक तत्वों के ख़िलाफ़ तुरंत सख्त कार्यवाही करनी चाहिए,क्योंकि ऐसे दिग्भ्रमित लोग न तो देश के लिए और न ही इंसानियत के लिए ठीक है। 
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget