जैप हवलदार की आत्महत्या का रहस्य अनसुलझी पहेली बनी।

जैप हवलदार की आत्महत्या का रहस्य अनसुलझी पहेली बनी।*

गढ़वा(झारखंड)।।पुलिस लाइन में पदस्थापित जैप के हवलदार जेम्स टोप्पो द्वारा अपने सर्विस इंसास राइफल से गोली मारकर आत्महत्या किये जाने के कारणों का खुलासा घटना के दूसरे दिन तक नहीं हो सका है।लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि ऐसी क्या परिस्थिति आ गई कि हवलदार ने खुद गोली मारकर अपनी जान ले ली। सोमवार को जेम्स टोप्पो के शव का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया गया। इसके बाद हवलदार के शव को पुलिस लाइन ले जाया गया।जहां एसपी शिवानी तिवारी समेत कई वरीय पुलिस पदाधिकारियों ने शव को सलामी दी।इसके बाद हवलदार के शव को उसके पुत्र आशीष टोप्पो को घर ले जाने के लिए सौंप दिया गया। घटनास्थल का मुआयना करने के दौरान कमरे की दीवार, छत, जिस बेड पर हवलदार ने सिर में गोली मारी थी वह बेड, मच्छरदानी तथा कमरे के कुछ हिस्से में सिर के बिखरे मांस के टुकड़े को देख लोगों के रौंगटे खड़े हो गये।पुलिस ने कमरा से इंसास राइफल की गोली का एक खोखा बरामद किया।बताया जा रहा है कि हवलदार ने अपने दोनों जांघो में इंसास को फंसाकर गोली चलाई।आत्महत्या से पहले हवलदार अपने कमरे में फूल साउंड में गाना बजा दिया था। इस कारण गोली चलने की आवाज पड़ोस में रहने वाले दूसरे जवानों को नहीं मिल सकी।बताया जा रहा है कि जेम्स टोप्पो अपनी पत्नी बाहेलेन टोप्पो द्वारा 6-7 वर्ष पूर्व अचानक घर से कहीं चले जाने के बाद से परेशान रहता था।उसके दो बेटे हैं।बड़ा बेटा आशीष टोप्पो खूंटी के बिरहू गांव स्थित अपने पैतृक आवास पर रहता है।जबकि छोटा पुत्र अभिषेक टोप्पो रांची में अपनी मौसी के यहां रहता है।सोमवार को अपने परिजन के साथ गढ़वा पहुंचे आशीष टोप्पो ने बताया कि उसके पिता शुक्रवार को एक दिन के लिए घर आए थे। शनिवार को उन्होंने फोन कर डयूटी ज्वाइन कर लेने की बात बताई थी।

कब तक जवान करते रहेंगे आत्महत्या

हवलदार जेम्स टोप्पो द्वारा आत्महत्या किये जाने की सूचना के बाद पुलिस एसोसिएशन के लोग रविवार की रात पुलिस केंद्र आ धमके।इन्होंने वहां मौजूद पुलिस पदाधिकारियों से पूछा कि आखिर कब तक जवान आत्महत्या करते रहेंगे। इस दौरान एसोसिएशन के अध्यक्ष रवि कुशवाहा तथा उपाध्यक्ष बादल पासवान ने विभाग के वरीय अधिकारियों द्वारा जवानों का शोषण किये जाने का आरोप लगाया।बात उस समय बिगड़ गई जब वहां मौजूद मेजर महेश चौधरी की उक्त दोनों के साथ गरमा-गरम बहस हो गई। हालांकि मौके पर मौजूद अभियान एसपी सदन कुमार ने आक्रोशित एसोसिएशन के सदस्यों को समझा-बुझाकर शांत कराया।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget