राज्य मंत्री डा0 नीलकंठ तिवारी ने दीनापुर एवं गोइठहा सीवरेंज ट्रीटमेंन्ट प्लान्ट निर्धारित जून तक पूरा न होने पर गहरी नाराजगी जताते हुए युद्वस्तर पर अभियान चलाकर पूरा कराये जाने का निर्देश दिया।

राज्य मंत्री डा0 नीलकंठ तिवारी ने दीनापुर एवं गोइठहा सीवरेंज ट्रीटमेंन्ट प्लान्ट निर्धारित जून तक पूरा न होने पर गहरी नाराजगी जताते हुए युद्वस्तर पर अभियान चलाकर पूरा कराये जाने का निर्देश दिया।

वाराणसी।।उत्तर प्रदेश के विधि-न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री डा0 नीलकंठ तिवारी ने दीनापुर एवं गोइठहा सीवरेंज ट्रीटमेंन्ट प्लान्ट निर्धारित जून तक पूरा न होने पर गहरी नाराजगी जताते हुए युद्वस्तर पर अभियान चलाकर पूरा कराये जाने का निर्देश दिया। साथ ही इनके ट्रंक लाइन की सफाई कार्य भी श्रमिको की संख्या बढ़ाकर समय से पूरा कराये जाने पर विशेष जोर दिया। इसके अलावा रमना में बन रहेे सीवरेंज ट्रीटमेंन्ट प्लान्ट को भी समय से पूरा कराये जाने पर जोर देते हुए उन्होने नगर आयुक्त को निर्देशित किया कि विभिन्न गंगा घाटो का सर्वे कराकर यह सुनिश्चित कराये कि कोई भी घरेलू सीवर लाइन गंगा में गिरने न पाये। नगर आयुक्त द्वारा कुछ स्थानों पर चिन्हिंत किये जाने की जानकारी देते हुए बताया गया कि बार-बार मना करने के बावजूद अपने कृत्य पर रोक न लगाने वाले संबंधित लोगो पर 50-50 हजार का जूर्माना नगर निगम द्वारा सोमवार को लगाया जायेगा। मंत्री डा0नीलकंठ तिवारी ने बताया कि दीनापुर, गोइठहा एवं रमना सीवरेंज ट्रीटमेंट प्लान्ट को शुरू हो जाने पर शहर का सीवरेंज एसटीपी पर जाने लगेगा और आगामी 3-4 महिनें के अन्दर जब गंगा में वास्तविक रूप से सीवर का पानी जाना पूरी तरह बंद हो जायेगा, तो काशी में बड़े पैमाने पर उत्सव आयोजित कर गंगा को प्रदुषण मुक्त होने की विधिवत् घोषणा किया जायेगा। उन्होने एसटीपी निर्माण कार्य के प्रगति का मानीटरिंग प्रति सप्ताह नियमित रूप से किये जाने हेतु कमिश्नर से कहा। 
उत्तर प्रदेश के विधि-न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री डा0 नीलकंठ तिवारी शनिवार को सर्किट हाउस सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक कर रहें थे। उन्होने एसटीपी निर्माण कार्य के दौरान ही घरो के किये जाने वाले 46 हजार में से शेष 11 हजार सीवर कनेक्शन कार्य को भी पूरा कराये जाने पर जोर दिया। सारनाथ में निर्माणाधीन वाटर ट्रीटमेंन्ट प्लान्ट को भी हर हालत में दिसम्बर तक पूरा कराये जाने का निर्देश दिया। पेयजलापूर्ति की समीक्षा के दौरान उन्होने जलनिगम के अधीक्षण अभियंता को फटकार लगाते हुए सीस वरूणा क्षेत्र में बिछाये गये पाइप लाइन को अभियान चलाकर दुरूस्त कराये जाने का निर्देश दिया। शहर की सफाई व्यवस्था पर शुक्रवार को वाराणसी आगमन के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा नाराजगी जताये जाने को संज्ञान लेते हुए मंत्री डा0नीलकंठ तिवारी ने पार्को एवं सार्वजनिक स्थानों से कूड़े का नियमित उठान, सफाई व्यवस्था सहित सीवरेंज व्यवस्था पर निगरानी एवं पर्यवेंक्षण कार्य हेतु आज ही अधिकारियों का टीम बनाये जाने हेतु नगर आयुक्त को निर्देशित करते हुए कहॉ कि प्रधानमंत्री के आगामी काशी आगमन से पूर्व शहर की सफाई व्यवस्था हर हालत में मुकम्मल सुनिश्चित करा लिया जाय। इसमें अब किसी भी स्तर पर ढिलाई बर्दास्त नही किया जायेगा। उन्होने शहर में जगह-जगह निर्मित मूत्रालयों का सीवर से कनेक्शन कराये जाने के साथ मूत्रालयों का रोजाना सफाई सुनिश्चित कराये जाने हेतु भी नगर आयुक्त को निर्देशित किया। अभी भी शहर में सड़को के किनारे खूले में लोगो द्वारा मूत्रालय का प्रयोग किये जाने को हास्यापद बताते हुए मूत्रालय निर्माण हेतु 100 स्थानों का चयन कर मूत्रालय बनाये जाने का निर्देश दिया। उन्होने 02 अक्टूबर को वाराणसी को ओडीएफ घोषित किये जाने पर विशेष जोर दिया। गंगा के 26 घाटों के आवश्यक मरम्मत कराये जाने का भी निर्देश दिया। आईपीडीएस द्वारा शहर में कराये गये भूमिगत केवलिंग कार्य की समीक्षा के दौरान दालमण्डी क्षेत्र में भूमिगत वायरिंग कराये कराये जाने में बहानेबाजी करने पर विभागीय अभियंताओं को जमकर फटकार लगायी। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि आईपीडीएस पहले दालमण्डी में अतिक्रमण होने का बहाना किया और जब अतिक्रमण हटवा दिया गया तो अब डेप्थ न मिलने का बहाना शुरू किया गया। उन्होने दालमण्डी में भूमिगत वायरिंग कार्य के बाबत प्रतिबद्वता दोहराते हुए यहॉ के किसी एक गली को चिन्हित कर सर्वप्रथम उसमे कार्य कराकर यहॉ पर कार्य किये जाने की सम्भावना तलाशने का निर्देश दिया। दालमण्डी में अवैध तरीके से भूमिगत निर्मित बेसमेंट को वीडीए द्वारा 6 माह से सील किये जाने की जानकारी पर बिफरते हुए मंत्री ने कहा कि अवैध निर्माण को सील कर वीडीए अपने दायित्व का इतिश्री नही समझ सकता। वीसी वीडीए द्वारा अवैध निर्मित बेसमेंट को कार्यवाही के तौर पर फीडिंग कराये जाने को विकल्प बताये जाने पर उन्होने स्थायी कार्यवाही किये जाने का निर्देश दिया। 

शहर की यातायात व्यवस्था को प्रमुख समस्या बताते हुए मंत्री डा0नीलकंठ तिवारी ने इसके स्थायी समाधान हेतु लहरतारा-डीरेका-नरिया, नदेसर-रविन्द्रपुरी, लहरतारा-बौलिया-चॉदमारी सहित कज्जाकपुरा-सरैया मार्ग पर फ्लाईओवर निर्माण हेतु अतिशीघ्र डीपीआर बनाकर शासन को भेजे जाने हेतु निर्देशित किया। वही उन्होने शहर की यातायात एवं अतिक्रमण व्यवस्था को सुधारने हेतु क्षेत्रीय थानेदारो को जिम्मेदार बनाये जाने हेतु एसएसपी को निर्देशित किया। उन्होने इस कार्य को प्राथमिकता पर लेते हुए लापरवाह थोनदारो के विरूद्व कार्यवाही किये जाने पर भी जोर दिया। उन्होने सामनेघाट सेतु के इस पार मध्य में आ रहे दुकान को अन्यत्र शिफ्ट कराये जाने के साथ उस पार रामनगर साइड में पुल के पास के मलवे को हटाये जाने पर जोर दिया। ताकि यातायात सामान्य हो सके। राजघाट से अस्सी तक ‘‘वाटर बस’’ चलाये जाने हेतु शीघ्र कार्ययोजना बनाये जाने का निर्देश दिया। उन्होने गंगा घाटों पर होने वाले विभिन्न सांस्कृतिक आदि कार्यक्रमों के आयोजन से पूर्व नगर निगम से अनुमति को अनिवार्य बताया। 

बैठक में भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारी सुनील ओझा, कमिश्नर दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह, नगर आयुक्त उा0नितिन बंसल, उपाध्यक्ष वीडीए राजेश कुमार, एसएसपी आनन्द कुलकर्णी सहित जलनिगम, लोनिवि, सेतु निगम आदि विभागों के अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget