वाराणसी-विभागीय मिलीभगत से अवैध रिक्शा का शहर में हो रहा संचालन - कमिश्नर

वाराणसी,



वाराणसी कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने अवैध आटो रिक्सा एवं अत्यधिक संख्या में संचालित ई-रिक्सा के कारण शहर के प्रमुख चौराहो पर लगने वाले जाम तथा बेपटरी यातायात व्यवस्था पर गहरी नाराजगी जताते हुए जहॉ समभागीय परिवहन अधिकारी को कड़ी फटकार लगायी, वही निर्गत परमिट के विरूद्व आटो रिक्सा को अन्यत्र संचालित कर धारा-86 का उल्लघन किये जाने पर पूर्व निर्धारित जुर्माना राशि 4 हजार को बढ़ाकर 10 हजार कर दिया। उन्होने ग्रामीण परमिट पर शहर में चलने वाले आटो रिक्सा का युद्वस्तर पर अभियान चलाकर चालान एवं सीज किये जाने के साथ ही शहर की यातायात व्यवस्था को सुधारने हेतु आरटीओ को 15 दिन की मोहलत दी। जारी एक परमिट पर कई आटो रिक्सा का संचालन होने तथा आरटीओ कार्यालय में दलालो का हस्तक्षेंप होने की जानकारी पर बिफरते हुए उन्होने आरटीओ को कड़ी चेतावनी दी कि 15 दिन के अन्दर यदि व्यवस्था में सुधार नही हुआ, तो कठोर कार्यवाही किया जायेगा। साथ ही भ्रष्टाचार में लिप्त एवं दलालों से साठगॉठ रखने वाले आरअीओ के बाबूओं के विरूद्व एफआईआर कर जेल भेजे जाने की भी उन्होने कड़ी चेतावनी दिया।


बीते दिनों(27-07-2018)को कमिश्नर दीपक अग्रवाल शुक्रवार  अपने अनुश्रवण कक्ष में सम्भागीय परिवहन प्राधिकरण की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होने शहर की यातायात व्यवस्था को सुधारने हेतु आटो रिक्सा एवं ई-रिक्सा का शीघ्र रूट निर्धारण किये जाने का निर्देश देते हुए कहॉ कि रूटवार आटो रिक्सा का रंग निर्धारित किया जाय। ताकि निर्धारित रूट का उल्लघन करने पर आसानी से पकड़ा जा सके तथा ऐसे आटो रिक्सा का चालान एवं सीज कराया जाय। उन्होने छोटे-छोटे रूट पर ई-रिकसा का संचालन सुनिश्चित कराये जाने पर विशेष जोर दिया। 
शहर में अवैध आटो रिक्सा का संचालन बार-बार निर्देश के बावजूद बंद न होने पर कमिश्नर ने इसे विभागीय मिलीभगत बताते हुए कहॉ कि सिर से ऊपर पानी आ चुका है। 
उन्होने आटो रिक्सा संचालन हेतु शहर में मार्गो को चिन्हिंत कर रूटवार परमिट व कलर निर्धारण कराये जाने के साथ ही निर्धारित रूट पर ही कड़ाई से संचालन सुनिश्चित कराये जाने की हिदायत दी। उन्होने ध्वनि प्रदुषण को रोके जाने हेतु वाहनों में लगने वाले प्रेशर हार्न पर प्रभावी रोक तरीके से लगाये जाने हेतु ऐसे वाहनों के साथ-साथ प्रेशर हार्न विक्रेता एवं बनाने वालों के विरूद्व अभियान चलाकर कार्यवाही किये जाने का निर्देश दिया। इसके लिये उन्होने निजी वाहन संचालक एसोसियेशन के पदाधिकारियों से भी अपने-अपने वाहनों से प्रेशर हार्न हटाने तथा वाहन चालको से हार्न का उपयोग कम से कम किये जाने हेतु जागरूक एवं प्रेरित किये जाने की अपील की। उन्होने स्कूल बसों को परमिट जारी किये जाने के दौरान समस्त औपचारिकता सहित सर्वोच्च न्यायालय के मार्ग-निर्देश का अक्षरशः पालन सुनिश्चित किये जाने पर विशेष जोर देते हुए कहॉ कि परमिट शर्तो का उल्लघन पाये जाने पर स्कूल बसो का चालान एवं सीज उस समय किया जाय, जब उसमें बच्चे न हो। अन्यथा बच्चों को बिनावजह परेशानी का सामना करना पड़ता है। वाराणसी शहर को प्रदुषणमुक्त किये जाने हेतु आटो रिक्सा का संचालन सीएनजी से कराये जाने की स्वीकृति देते हुए आगामी दिनों में अतिशीघ्र आटो रिक्सों का सीएनजी में कन्वर्ट कराये जाने हेतु कीट लगवाये जाने का आटो एसोसियेशन के पदाधिकारियों को निर्देशित किया। सीएनजी/एलपीजी कीट लगाये जाने के लिये 5 सेन्टर की स्वीकृति प्रदान किया गया। कमिश्नर ने एक माह का समयसीमा निर्धारित करते हुए उन मार्गो का सर्वे कर रिर्पोट तलब किया है, जिन मार्गो पर मॉग के बावजूद रोडवेज द्वारा जनसामान्य को बस सेवा मुहैया नही कराया जा पा रहा है। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहॉ कि यदि उन मार्गो पर रोडवेज सेवा देने में असमर्थ होगा, तो निजी बस सेवा संचालन सुनिश्चित कराये जाने हेतु शासन स्तर पर अनुरोध किया जायेगा। बाबतपुर एयरपोर्ट से कैण्ट तक दो एसी बस संचालन हेतु रोडवेज को शासन स्तर से स्वीकृति मिलने की जानकारी पर कमिश्नर ने शीघ्र संचालन सुनिश्चित कराये जाने के साथ ही बसों की संख्या बढ़ाये जाने पर भी जोर दिया। स्टार्टअप के तहत निजी संस्था द्वारा बाबतपुर एयरपोर्ट से कैण्ट हेतु एसी ‘‘टेम्पो ट्रवेलर’’ मिनी बसो का संचालन शुरू करने की जानकारी पर उन्होने जनवरी में वाराणसी में होने वाले अप्रवासी भारतीय सम्मेलन से पूर्व संचालन सुनिश्चित कराये जाने पर विशेष जोर दिया। संस्था के लोगो द्वारा बताया गया कि बस में यात्रा के दौरान पर्यटकों को काशी के संबंध में 10 भाषाओं में हेडफोन के द्वारा जानकारी दिये जाने की भी व्यवस्था कराया जा रहा है। बैठक में वाराणसी-गाजीपुर, वाराणसी-जमानियॉ घाट, जमुई से इलिया आदि अन्य अराष्ट्रीयकृत मार्गो पर संचालन हेतु 63 वाहनों को परमिट जारी किया गया।

बैठक में जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह, उप परिवहन आयुक्त वाराणसी परिक्षेत्र देवेन्द्र कुमार त्रिपाठी, सम्भागीय परिवहन अधिकारी आर0पी0द्विवेदी, एसपी ट्रेफिक सहित रोडवेज व अन्य विभागीय अधिकारी एवं निजी बस एवं आटो रिक्सा एसोसियेशन के पदाधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget