मोदी के राज में भ्रष्टाचार,आर्थिक विफलता, अक्षमता और सामाजिक भेदभाव चरम पर -राहुल गांधी

नरेन्द्र मोदी,सरकार,भ्रष्टाचार,आर्थिक विफलता,सामाजिक भेदभाव

राहुल गांधी (file photo)

नई दिल्ली।। राहुल गांधी ने संसद भवन में कांग्रेस संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि सत्ता व्यवस्था के प्रति आक्रोश बढ़ रहा है और पार्टी सांसदों को मोदी के ‘‘अच्छे दिन’’ के झूठे वादों का विकल्प लोगों के समक्ष पेश करने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए।

कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार के शासनकाल में भ्रष्टाचार,आर्थिक विफलता, अक्षमता और सामाजिक भेदभाव चरम पर पहुंच गया है और उन्होंने पार्टी सांसदों से लोगों को विकल्प मुहैया कराने को कहा।

उन्होंने कहा कि भारत की जनता मोदी सरकार को हटाने के लिए और उसे ऐसी सरकार से बदलने के लिए कांग्रेस और उसकी गठबंधन पार्टियों की ओर उम्मीद से देख रहीं है जो उनकी बात सुनें, उनकी समस्याओं को समझे और देश में गरीबी, बेरोजगारी और असमानता को समाप्त करने के समाधान तलाशे।

उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी ने कहा था मुझे अपने वोट दीजिए और मैं आपको आपके जीनव की सबसे अच्छी और यादगार यात्रा पर ले चलूंगा। दुख की बात है कि मोदी के चार साल के कार्यकाल में भारत एक ऐसी रेलगाड़ी नजर आता है जिसे एक निरंकुश, अक्षम और अहंकारी चालक विध्वंस के रास्ते पर ले जा रहा है और जिसे इस बात की जरा भी परवाह नहीं है कि उन यात्रियों के साथ क्या होगा जिनकी जिम्मेदारी उनके ऊपर है।’’

उन्होंने कहा कि भारत की जनता बदलाव की मांग कर रही है और वह मोदी की ऐसी जादुई ट्रेन के झांसे में नहीं आएगी जो दुर्घटना की ओर बढ़ रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जनता की आवाज बनने वाले संस्थानों का निर्माण किया जिनके दम पर राष्ट्र निर्माण हुआ।

राहुल गांधी ने कहा, ‘‘ जब से आरएसएस और भाजपा सत्ता में आई हैं हमने अपने प्रत्येक संस्थान पर एक के बाद एक हमले देखे हैं। आधुनिक भारत में ये संस्थांए लोकतंत्र का मंदिर कहलाती थीं और आज आरएसएस उस प्रत्येक संस्थान को ध्वस्त करने पर तुली हुई है। उनके लोग प्रत्येक संस्थान में दखल दे रहे हैं और संस्थानों का मूल स्वरूप बदल रहा है।

Labels:
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget