मोदी सरकार ने 2017-2018 में विज्ञापन पर खर्च किए 1313 करोड़ रुपए

विज्ञापन


नई दिल्ली।।केंद्र सरकार ने 2017-18 मे लोक संपर्क और संचार ब्यूरो के माध्यम से इलेक्ट्रोनिक, प्रिंट और अन्य मीडिया में विज्ञापनों पर करीब 1313 करोड़ रूपए खर्च किए है। जो पिछले साल के मुकाबले 64 करोड़ रुपए ज्यादा है। पिछले वित्त वर्ष में विज्ञापन में खर्च की राशि की बात करें तो वो करीब 1264 करोड़ रूपए थी। संसद में इस बात की जानकारी सूचना एवं प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने लिखित में दी है। 

आंकड़े क्या कहते हैं।

  • 2017-18 में प्रिंट माध्यम में 636.09 करोड़ रुपए विज्ञापन पर खर्च किए गए। 
  • श्रव्य-दृश्य माध्यम में 468.93 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। 
  • बाह्य प्रचार पर 208.55 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। 
  • 2016-17 में प्रिंट माध्यम में 468.53 करोड़ रूपए विज्ञापन पर खर्च हुए हैं। - - श्रव्य-दृश्य माध्यम में 609.14 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। 
  • बाह्य प्रचार पर 186.59 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं।
  • सूचना प्रसारण मंत्रालय ने 2016-17 में प्रसार भारती को 3132.68 करोड़ रुपए का अनुदान दिया। 
  • 2017-18 में यह अनुदान 2737.86 करोड़ रुपए था। 
  • 2018-19 के लिए यह राशि 694.02 करोड़ रूपए है।
Labels:
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget