सोनभद्र - योगिराज में बच्चों के पास दो विकल्प, मौत से खेलें या पढाई छोड़ घर बैठें!

सोनभद्र समाचार

खाना पूर्ति,के लिए निर्मित रपटा भी चढ़ गया घटिया निर्माण की भेंट

नौशाद  अन्सारी
ब्यूरो सोनभद्र,उर्जांचल टाइगर 

म्योरपुर विकास खण्ड के ग्राम पंचायत पिण्डारी के बिच्छी नदी पर बने रपटा के टूटने से ग्रामीणों को बरसात के मौसम में नदी पार करने ने परेशानी हो रही है। 

गांव के श्याममनोहर, दुदील यादव,दया यादव ने बताया कि बिच्छी नदी पर पिछली सरकार ने रपटा का निर्माण कराया था लेकिन वह भी भरस्टाचार की भेंट चढ़ गया और पिछली बरसात में ही बाढ़ की भेंट चढ़ गया है। बरसात बीतने के बाद हम लोगो ने रपटा के बगल में मिट्टी डाल फिर से आवा गमन शुरू कर दिया था। 

ऐसा आज कितने सालो से चलता आ रहा है हमने इसकी शिकायत तहसील दिवस व जिलाधिकारी को प्राथना पत्र देकर पुलिया निर्माण के लिये मांग किया लेकिन हम लोगो की समस्या को उच्याधिकारियो द्वारा गम्भीरता से न लेने के कारण आज भी हम लोग बरसात में पानी के बहाव के साथ नदी पार करने के लिए विवश है।


पान मति,संगीता ने बताया की हमारे बच्चे नगराज से पिण्डारी प्रथमिक विद्यालय में पड़ते है रास्ते मे बिच्छी नदी पड़ने के कारण हमें डर लगा रहता है कि कैसे अपने बच्चो को पढ़ने भेजे अगर बच्चे स्कूल भी जाते है तो जब तक वापस घर नही आ जाते हम लोगो का ध्यान बच्चो पर ही लगा रहता है। 

बताया कि बरसात के मौसम में हम अपने बच्चों को स्कूल ही नही भेजते है।उपरोक्त ग्रामीणों का कहना है कि जिला प्रशासन और जन प्रतिनिधि इस मामले में अनदेखी कर रहे है। आखिर दो माह हमारे बच्चे स्कूल नही जा रहे है इसकी जिमेवारी कौन लेगा दो माह में आधी किताब तो पढा दी जाएगी।नगराज के दर्जनों बच्चे  उस पढ़ाई से बंचित हो जा रहे है।मांग उठाई की बिछी नदी पर तत्काल पुलिया का निर्माण कराया जाए। 

क्या कहते हैं जिम्मेदार 

लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता पाल का कहना है कि निर्माण कार्य अब बरसात के बाद ही होगा।
Labels:
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget