श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की विचारधारा के प्रतीक हैं।- रघुवर दास,मुख्यमंत्री

श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की विचारधारा के प्रतीक हैं।- रघुवर दास,मुख्यमंत्री

रांची(स्टेट हेड-मुकेश कुमार)।।श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी केवल एक व्यक्ति नहीं थे। वे सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की विचारधारा के प्रतीक हैं। वे पत्रकार,संवेदनशील कवि, अपराजेय वक्ता और विचारवान लेखक थे। उन्हें मां सरस्वती का आशीर्वाद प्राप्त था। उन्होंने अपना जीवन मां भारती की सेवा में लगाया। उक्त बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहीं। वे पूर्व प्रधानमंत्री स्व.अटल बिहारी वाजपेयी जी के सम्मान में आयोजित काव्यांजलि कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि अटल जी भारतीय राजनीति में सभी के प्रिय रहे। उन्होंने अपने वचन और कर्म से सभी के हृदय में अपनी पहचान बनायी। आज पूरे देश में एक साथ 4000 स्थानों पर काव्यांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 23 जनवरी को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी रांची आ रहे हैं। इस दिन दुनिया की सबसे बड़ी बीमा योजना आयुष्मान भारत की शुरुआत की जायेगी। इससे राज्य के 68 लाख में से 57 लाख गरीब परिवारों को पांच लाख रुपये तक की स्वास्थ्य बीमा का निशुल्क लाभ दिया जायेगा। इस योजना के लागू होने के बाद गरीब परिवारों को अब इलाज के लिए अपने घर, जमीन, जेवर आदि नहीं बेचने होंगे। उन्होंने राज्य की जनता से इस कार्यक्रम में उत्साह के साथ भाग लेने का आह्वान किया।कार्यक्रम में कुमार ब्रजेंद्र व अन्य कवियों ने काव्य पाठ किया। इस दौरान नगर विकास मंत्री सीपी सिंह झारखंड खादी बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ, अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष कमाल खान की उपस्थिति के साथ बड़ी संख्या में साहित्यिक अभिरुचि रखने वाले बुद्धिजीवियों की उपस्थिति महत्वपूर्ण थी।

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget