प्रान्तीकरण न होने से चोचकपुर पीपा पुल अधर में- गोविन्द उपाध्याय

प्रान्तीकरण न होने से चोचकपुर पीपा पुल अधर में- गोविन्द उपाध्याय


  • पीपा पुल न लगने की स्थिति में 2 अक्टूबर को डीवीएम करेगा चक्का जाम! 
धानापुर-चन्दौली।। धानापुर विकास मंच की बैठक बुधवार को क्षेत्र के बुद्धपुर में डी. वी. एम. संयोजक गोविन्द उपाध्याय के आवास आहूत की गई। बैठक को संबोधित करते हुए मंच के संयोजक गोविन्द उपाध्याय ने कहा कि "हमारे दिल में धानापुर के सर्वांगीण विकास की रचनात्मक और सृजनात्मक और सकारात्मक दृष्टिकोणों के आधार पर सम्पूर्ण क्षेत्र के विकास के लिए अवधारणाओं के लिए मंच लम्बे समय से संविधान के दायरे में अपनी मांगों के समर्थन में संघर्षरत है। धानापुर में विकास के लिए चोचकपुर नगवां घाट पर पुल, पहले पीपा पुल फिर बाद में स्थायी पुल, धानापुर में तहसील और मुंसिफ न्यायालय के स्थापना हेतु मंच ने आवाज उठाई। आन्दोलन की शुरुआत क्षेत्र में सघन संपर्क और नुक्कड़ सभाओं के माध्यम से की गई।

आन्दोलन के दौरान क्षेत्रीय सांसद और विधायक के सहयोग से प्रदेश सरकार द्वारा नगवां चोचकपुर घाट पर पीपा पुल लगा। उस पुल के लिए आगे की परिस्थितियों को देखते हुए यह बैठक विशेष रूप से आहूत की गई है। वह पुल उत्तर प्रदेश राज्य के राज्यपाल द्वारा राजपत्र व गजट में अधिसूचना निर्गत कर घोषित भी नहीं हो पाया। इसीलिए प्रदेश सरकार द्वारा राजपत्र के अनुसार बजट में धनराशि भी स्वीकृत नहीं की गई। जबकि शासन के प्रमुख सचिव और लोकनिर्माण विभाग के माध्यम से मात्र चिट्ठी चिट्ठी का खेल चल रहा है। हमारी जनता के लिए कल्याणकारी योजना/पुल हमसे छीना जा रहा है। प्रान्तीकरण न होने से चोचकपुर पीपा पुल इस साल अधर में है! जबकि हमारे जनप्रतिनिधियों की तंद्रा टूट नहीं रही है। इसके लिए हमें विचार करना होगा। लड़ना ही रास्ता बचा।

इस प्रस्ताव को ध्यान में रखते हुए वरिष्ठ समाजसेवी व नेता हरिवंश सिंह "पुन्नु दादा"ने कहा कि लोगों के सब्र की इंतेहा हो गई है। जनता की आवाज राजनीतिक सत्ता और प्रदेश शासन के कान तक पहुंचाने के लिए दो अक्टूबर को धानापुर विकास मंच द्वारा "थाना चौराहे पर दिन में 11बजे धरना और प्रदर्शन के लिए रास्ता जाम"कर आन्दोलन किया जायेगा"।

मोढ़ा राम ने कहा कि धरना और प्रदर्शन के लिए जरूरी जागरण तथा जनसंपर्क अभियान प्रारंभ कर दिया जाना चाहिए। साथ ही धानापुर में तहसील के स्थापना की मांग को लेकर आन्दोलन और तेज करने की आवश्यकता है।

वीरेंद्र सिंह ने कहा कि"धानापुर विकास मंच के लोगों द्वारा जनसंपर्क करने के लिए टोली गठित कर जनता की भागीदारी बढ़ाने के लिए धानापुर और आसपास भ्रमण करकल से ही प्रारंभ किया जायेगा।

राम अनुज यादव ने कहा कि"तहसील, टांडा पुल के लिए भी आन्दोलन को जारी रखते हुए अग्रिम योजना के अंतर्गत आन्दोलन अगले चरण में प्रवेश करने की चेतावनी भी दी गई। नंदकुमार पाण्डेय ने कहा कि "जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंप कर अपनी मांगों को सरकार तक पहुंचाने का काम किया जाना चाहिए।

हरिद्वार मिश्र ने कहा कि मंच के बीस लोगों का प्रतिनिधि मंडल जिलाधिकारी को ज्ञापन और चेतावनी दी जानी चाहिए। हम हर मोड़ पर संघर्ष के लिए सदैव तत्पर हैं।

बैठक में श्रीकृष्ण सिंह, रामलाल यादव हरिद्वार मिश्र, अजित पाण्डेय, मृत्युंजय पाण्डेय अवनीश उपाध्याय आदि थे। बैठक की अध्यक्षता कमला कांत पाण्डेय और संचालन किया रामानुज यादव ने किया।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget