शर्मनाक - सोनभद्र के म्योरपुर में ढिबरी की रोशनी में कराया जाता है प्रसव

ढिबरी की रोशनी में कराया जाता है प्रसव

म्योरपुर सीएचसी में आई दूर दराज से गर्भवती महिलाओं को प्रसव के इन्तेजार में ढिबरी मोमबत्ती जला बितानी पड़ती है रात।

नौशाद
ब्यूरो सोनभद्र,उर्जांचल टाइगर

भारत सरकार देश के कोने-कोने में बिजली पहुंचाने का दावा कर रही है,और योगी सरकार महिलाओं के सम्मान में विभिन्न योजनायें चला रही है। इसके बावजूद भी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में महिलाओं का प्रसव व इलाज मोमबत्ती और ढिबरी की रोशनी में कराया जाना बहुत बड़ी शर्म की बात है।मामला म्योरपुर के स्थानीय कस्बा स्थित सीएचसी का है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार म्योरपुर सीएचसी पर दूर दराज से आई गर्भवती महिलाओं का प्रसव बिजली के अभाव में ढिबरी एवम मोमबत्ती की रोशनी में प्रसव कराया जाता है। गांव के कुछ नवयुवक जब रात सीएचसी पर पहुँच मौके का जायजा लिया तो सच्चाई सामने आई गांव के पष्पेंद्र,अभिषेक,दीपक अग्रहरि,विकास सोनी, अखिलेस,आकाश केशरी उक्त लोगो ने सीएचसी का रात्रि 10 बजे दौरा जायजा लिया तो एक गर्भवती मोमबत्ती की रोशनी में पड़ी कराह रही थी परिजन घुप अंधेरे में सम्बंधित सामान दवाइयां ला रहे थे।


महिला का आरोप है कि बीती रात जब वह म्योरपुर सीएचसी में भर्ती हुई तो बिजली नहीं आ रही थी, लेकिन उसके बाद भी मोमबत्ती की रोशनी में ही उसका प्रसव कराया गया। प्रसव कराने आई महिला का आरोप है कि पूरी रात वह और अन्य मरीज अंधेरे में रहे। जबकि अस्पताल में 24 घंटे बिजली की व्यवस्था होनी चाहिए।

क्या कहते हैं जिम्मेदार 

बिजली के अभाव में जनरेटर चलाया जाता इन दिनों जनरेटर में तकनीकी खराबी आ जाने के कारण असुविधा हो रही है जिसे शीध्र दूर कर लिया जाएगा बताया कि नेडा द्वारा सौर ऊर्जा की 30 केवी के लोड के लिए प्रस्ताव बन के गया है जल्द उस पर काम शुरू हो जाएगा जिससे सीएचसी में बिजली सम्बन्धित समस्या खत्म हो जायेगी।
डॉक्टर राजीव रंजन
सीएचसी अधीक्षक,म्योरपुर सोनभद्र उत्तर प्रदेश 

इस मामले पर  कहा यह गम्भीर मामला है।यदि ऐसा हो रहा है तो जांच करा आवश्यक कारवाई करायी जायेगी।
डॉ. एसपी सिंह 
मुख्य चिकित्साधिकारी सोनभद्र उत्तर प्रदेश 

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget