पेंशन बहाली के लिए पूर्णतया तालाबन्दी

पेंशन बहाली के लिए पूर्णतया तालाबन्दी

सभी सरकारी कामकाज तीन दिन तक रहेंगे ठप
चंदौली।। शिक्षक कर्मचारी अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच ने मंगलवार को पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने की मांग करते हुए तालाबन्दी के लिए जिला अध्यक्ष सुनील सिंह के नेतृत्व में मंगलवार को जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल को ज्ञापन सौंपा। जिला अध्यक्ष सुनील सिंह ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार शिक्षकों कर्मचारियों व अधिकारियों के साथ पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू ना करके अन्याय कर रही है केंद्र की सरकारी नौकरियों में 2004 से और प्रदेश के सरकारी नौकरियों में 2005 जितने भी शिक्षक कर्मचारी अधिकारी की नियुक्ति हुई है उनको पुरानी पेंशन ना देने का फैसला कहीं से न्यायोचित नहीं है अपने जीवन के बहुमूल्य 30 से 35 साल तक कठिन परिश्रम करके जब कर्मचारी सेवानिवृत्त होता है तो पेंशन है उसका सहारा होता है सरकार ने पेंशन व्यवस्था समाप्त कर शिक्षक के कर्मचारियों अधिकारी का सहारा छीनने का काम किया है और पेंशन के नाम पर नई पेंशन स्कीम नामक झुनझुना थमा दिया गया है जिसमे हम सभी शिक्षक कर्मचारियों का पूरी तरह से नुकसान है।उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि पेंशन बहाली का मुद्दा केंद्र का नहीं बल्कि राज्य सरकार के अधीन होता है उत्तर प्रदेश के लगभग 1300000 शिक्षक कर्मचारी अधिकारीयों में सरकार के इस फैसले से काफी निराशा है क्योंकि मामला युवाओं से जुड़ा हुआ है और प्रदेश के मुख्यमंत्री भी युवा ही हैं इसलिए वे युवाओं की समस्याओं का निस्तारण करने में पहल करें उन्होंने कहा कि देश के दो राज्य पश्चिम बंगाल और केरल में आज भी शिक्षक कर्मचारी अधिकारियों को पुरानी पेंशन दिए जाने का प्रावधान है यदि यह राज अपने कर्मचारियों को पुरानी पेंशन दे सकते हैं तो उत्तर प्रदेश के कर्मचारियों को पुरानी पेंशन क्यों नहीं मिल सकती कई बार आंदोलन करने के बाद भी सरकार युवाओं से जुड़े हुए इस मामले पर ध्यान नहीं दे रही है उन्होंने कहा कि पेंशन बहाली के लिए 25 अक्टूबर से तीन दिवसीय तालाबन्दी का कार्य करेंगे और समस्त अध्यापकों का हस्ताक्षर अपने अपने विकास खण्ड के ब्लाक संसाधन केंद्रों पर बनेगी।उन्होंने जोर देते हुए कहा कि इसके बाद भी सरकार हमारी मांगे नहीं मानती है तो हम प्रदेश नेतृत्व के आह्वाहन पर अनिश्चतकालीन महा हड़ताल के लिए बाध्य होंगे ।राज्य कर्मचारी संघ के जिला अध्यक्ष महेंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि पेंशन हमारा संवैधानिक अधिकार है जिस की बहाली तक हमारा संघर्ष अनवरत जारी रहेगा और अंत में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को शिक्षकों की समस्या के निस्तारण के लिए ज्ञापन दिया गया इस अवसर पर मुख्य रूप से रामिच्छा सिंह अंसार अहमद सच्चिदानंद पांडे ,उपेन्द्र बहादुर सिंह,सिंह अजय कुमार सिंह ,आनंद सिंह,राम सिंह गहरवार,संजय सिंह शाहबाज़ आलम,इम्तियाज,कैलाश प्रसाद लक्ष्मण प्रसाद,अमर बहादुर अशोक प्रशांत सिंह अतुल सिंह राम सिंह गहरवार,प्रशांत सिंह,अमर बहादुर,अशोक सिंह, सुरेंद्र सिंह, अखिलेश मिश्रा,वेद प्रकाश वर्मा, रविन्द्र,हर्षवर्धन, अभिषेक ,विकास,अशोक ,फ़ैयाज़ ,,अतुल,राघवेन्द्र, ,ईश्वर चन्द्र,,चन्द्रिका,प्रवीण मणिकांत आदि लोग उपस्थित रहे।

जिलाधिकारी से प्रतिनिधि मंडल का वार्ता विफल

पुरानी पेंशन बहाली हेतु शिक्षक कर्मचारी अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के सदस्यगण जिला अध्यक्ष सुनील सिंह के नेतृत्व में जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल से मिल कर वार्ता किया। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने प्रतिनिधि मंडल को नई पेंशन स्कीम में होने वाले फायदे को बताते हुए कहा कि आप हड़ताल पर न जाये और नई पेंशन योजना स्वीकार करें इस पर प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि की पुरानी पेंशन के अलावा हमें कुछ भी मंजूर नही। उन्होंने हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget