जानिए,सोशल मिडिया पर वायरल रिक्सा चालक पिता और IAS टॉपर लड़की की सच्ची कहानी

सोशल मिडिया के अफ्वाह्बाज़ों से रहें सावधान


न्यूज डेस्क
डिजिटल टीम,उर्जांचल टाइगर 
सोशल मीडिया पर एक तस्वीर इन दिनों खूब वायरल हो रही है जिसमें एक लड़की एक बुजुर्ग को रिक्शे पर बिठाकर उसे खींच रही है। सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि ‘ये लड़की IAS टॉपर है जो अपने पिता को दुनिया से मिलवा रही है। "ऐसी बेटी और ऐसे पिता को सेल्यूट" लेकिन खबर की पड़ताल से पता चला है कि ना तो ये युवती IAS टॉपर है और ना ही इनके पिता रिक्शा चालक हैं। यानी सोशल मीडिया पर जो कहानी सुनाई जा रही है वो पूरी तरफ फर्जी है।

जानिए कौन है ये तस्वीर वाली लड़की?

इस युवती का नाम श्रमोना पोद्दार है जो पेशे से ट्रेवल ब्लॉगर हैं साथ ही कुछ ब्रांड के लिए प्रमोशनल असाइनमेंट भी करती हैं।श्रमोना कोलकाता के पास चंद्रनगर की रहने वाली हैं। श्रमोना के मुताबिक ये तस्वीर उनके दोस्त ने अप्रैल में खींची थी और ये तस्वीर कोलकाता के शोभा बाजार की है।

क्या है रिक्शा चालक से श्रमोना का रिश्ता?

श्रमोना के मुताबिक हाथ रिक्शा खींचते लोगों को देखकर वो बचपन से ही इमोशनल हो जाती थीं। वो सोचती थीं कि ये कितना मुश्किल होगा या फिर रिक्शे वाले भैया कैसा महसूस करते होंगे। इसलिए उन्हें एक दिन तय किया कि वो रिक्शे वाले भैया को पीछे बिठाकर खुद रिक्शा खींचेंगी। इस दौरान उनके दोस्त उनके दोस्त भास्कर चाल ( https://www.instagram.com/bhaskar_0007/) ने लिया था जो एक फ्रीलांसर फोटोग्राफर है, जो कैंपेन का हिस्सा नहीं थी। रिक्शा खींचने के अनुभव को श्रमोना ने इंस्टाग्राम पर भी शेयर की है।

श्रमोना के मुताबिक उन्हें पता है कि उनकी ये तस्वीर फर्जी कहानी के साथ वायरल हो रही है जिससे वो दुखी हैं। उनके मुताबिक तस्वीर को लेकर उनके परिजनों को भी फोन आ रहे हैं जिससे वो परेशान हैं।
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget