हर बुखार डेंगू नहीं होता और डेंगू लाइलाज नहीं है।


वाराणसी।।आज सर सुन्दरलाल चिकित्सालय मे पत्रकारवार्ता के दौरान चिकित्सा अधीक्षक ने बताया कि पूर्वाचल के साथ-साथ समीपवर्ती कई राज्यों [मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, विहार, झारखंड] एवं पड़ोसी देश नेपाल तक से आने वाले मरीजों की सेवा में तत्पर रहता है। विगत एक महीने से पूरे पुर्वांचल के साथ ही साथ पूरे देश में तेज़ बुखार के साथ प्लेटलेट में कमी के लक्षण वाले मरीज़ों की संख्या में भारी मात्रा में वृद्धि हुई है। तीव्र बुखार के साथ साथ प्लेटलेट में गिरावट ही सिर्फ डेंगू का लक्षण नहीं होता है। सामान्य अथवा विषेश वायरल बुखार में भी प्लेटलेट की कमी होती है, जिसमें जांच का पाॅज़िटिव होना डेंगू नहीं है। सामान्य वायरल बुखार में पांच से सात दिन के अन्दर एण्टीबाॅडी बनने लगते हैं। किन्तु डेंगू बुखार में भी पाॅज़िटिव आता है, जिससे चिकित्सक यह सुनिष्चित करता है कि मरीज को डेंगू है। 

अतः सामान्य जनमानस को सूचित करना है कि किसी भी प्रकार के बुखार में यदि प्लेटलेट्स भी कम हो रहे हैं तो चिकित्सक द्वारा लिखी गई दवाओं का सेवन करने के साथ ही साथ पूरी तरह से आराम करना चाहिए तथा उचित मात्रा में तरल पदार्थ का सेवन करना चाहिए। सर सुन्दरलाल चिकित्सालय में डेंगू तथा अन्य वायरल बुखार से पीड़ित मरीजों के इलाज हेतु उचित व्यवस्थाएं की गई हैं। डेंगू से पीड़ित मरीजों हेतु डेंगू वार्ड बनाया गया है तथा उनके इलाज हेतु चिकित्सालय प्रशासन द्वारा 11.10.2018 को बैठक करके जरूरी दिशा निर्देष भी जारी किये गये हैं। डेंगू के मरीजों के समूचित इलाज हेतु रक्तकोश, सर सुन्दरलाल चिकित्सालय आवष्यक मात्रा में रक्त की व्यवस्था चुस्त दुरूस्त रखने का निर्देष दिया गया है। 

पत्रकारवार्ता को चिकित्सा अधीक्षक प्रो0 विजय नाथ मिश्रा मेडीसीन विभाग के, प्रो0 के0के0 गुप्ता, रस शास्त्र विभाग के, प्रो0 आनन्द चैधरी, उपचिकित्सा अधीक्षक डाॅ0 आनन्द श्रीवास्तव तथा मनोज गुपता तथा आईसीयू इंचार्ज प्रो0 डी0के0 सिंह मौजूद थे।
Labels:
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget