आयुष्मान भारत - दो मरीजो को गोल्डेन कार्ड प्रदान कर शुरु किया गया उपचार।

आयुष्मान भारत


वाराणसी से अजीत नारायण सिंह।।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की गरीब मरीजो का निःशुल्क उपचार कराने सम्बन्धी महत्वाकाॅक्षी योजना आयुष्मान भारत अब मूर्तरुप ले चुकी है। वाराणसी जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय तथा बीएचयू के सरसुन्दरलाल चिकित्सालय के संयुक्त तत्वावधान में आरम्भ की गयी। इस पहल में आज पहली बार सरसुन्दरलाल चिकित्सालय में दो मरीजो को गोल्डेन कार्ड प्रदान किये गये। जिनको आज से भर्ती कर 5 लाख तक का उपचार निःशुल्क आरम्भ कर दिया गया। 
इसमे एक महिला मरीज मेवाती देवी देवरिया जिले की है जिसे कैंसर है जबकि दूसरा मरीज नन्द लाल प्रजापति झारखण्ड के पलामू का है उसके सीने में दर्द है, तथा इसका बेटा चित्तरंजन भी गुर्दा रोग से पीड़ित है। 
आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत प्रथम बार गोल्डेन कार्ड वितरण का कार्यक्रम आज सायं चिकित्सालय के बहिरंग (ओपीडी) स्थित कक्ष क्रमांक 201 (आयुष्मान भारत के कार्यालय) में आयोजित किया गया।

वाराणसी के मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 वी0बी0 सिंह ने बताया कि एसईसीसी (सेन्ट्रल इकोनामिक कोड सेन्सेस सर्वे (2011) में पूरे भारत में हुआ था। इसके अन्तर्गत आयुष्मान भारत (प्रधानमंत्री जी) की महत्वाकांक्षी योजना हेतु लाभार्थियो का चयन हुआ था। एक मानक के अनुसार हितमहियो को चयनित किया गया। इसके तहत उ.प्र.में भी लाखो लाभार्थियो को चयनित किया गया। 
इसके अन्तर्गत एक परिवार को एक वर्ष में 5 लाख रुपये तक का इलाज कुछ चिन्हित इम्पैनल्ड चिकित्सालयो में निःशुल्क कराया जा सकता है। इसके अन्तर्गत 1350 प्रकार की बीमारियो एवं 23 स्पेशियलिटी के अन्तर्गत उपचार निःशुल्क कराया जा सकता है। 
आज सम्पन्न कार्यक्रम का सफल संचालन सरसुन्दरलाल चिकित्सालय के चिकित्सा अधीक्षक प्रो. विजय नाथ मिश्र ने किया। उन्होने बताया कि 2 नवम्बर शुक्रवार से इस योजना के तहत ट्रामा सेन्टर में भी उपचार शुरु हो जाएगा।

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget