एयरस्ट्राइक: हम मरने वाले लोगों की गिनती नहीं करते।-वायुसेना प्रमुख

एयरस्ट्राइक में कितने आतंकवादी मारे गए?


कोयम्बटूर।।पुलवामा में अतंकवादी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट इलाक़े में हमला किया था। भारत का कहना था कि उसनेअतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद के ट्रेनिंग कैंप को निशाना बनाया, हालाँकि पाकिस्तान भारत के इस दावे को नकारता है।
26 फरवरी को बालाकोट के बाद तरह - तरह के चर्चाओं के बीच वायुसेना प्रमुख ने कई अनसुलझे सवालों के जवाब दिए।
एयरस्ट्राइक में कितने आतंकवादी मारे गए?

वायुसेना प्रमुख बी एस धनोआ ने बालाकोट हवाई हमले में मारे जाने वाले लोगों की संख्या के बारे में कहा कि वायु सेना यह बताने की स्थिति में नहीं है कि कितने लोग मारे गए। धनोआ ने कहा,‘‘हम मरने वालों की गिनती नहीं करते। हम बस इतना गिनते हैं कि कितने ठिकानों पर निशाने लगे और कितनों पर नहीं।’’ वायुसेना प्रमुख ने कहा कि अभियान के बाद क्षति आकलन में केवल उन लक्ष्यों की गिनती की जाती है जिनपर निशाना लगा और जिनपर नहीं।धनोआ ने कहा,‘‘ हम मरने वाले लोगों की गिनती नहीं करते। यह इस बात पर निर्भर करता है कि वहां कितने लोग मौजूद थे।’’ 

मिग21 बाइसन का इस्तेमाल क्यों किया गया?

धनोआ ने कहा कि जब शत्रु हमला करता है तो जवाब देने के लिए हर मौजूद विमान का इस्तेमाल किया जाता है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी विमान का मुकाबला करने के लिए इस्तेमाल किया गया मिग-21 विमान आधुनिक हथियार प्रणाली से लैस एक उन्नत विमान था।

‘‘मिग21 बाइसन हमारे शस्त्र भंडार का हिस्सा है, तो उसका इस्तेमाल क्यों ना हो? मैं मौजूदा अभियानों पर कोई टिप्पणी नहीं करूंगा क्योंकि वे जारी हैं। मिग 21 सक्षम है। वह उन्नत और आधुनिक हथियार प्रणाली, बेहतर रडार, बेहतर हवा से हवा में वार करने वाली मिसाइल... उन सभी से लैस है जो इसे तीसरी पीढ़ी से 3.5 पीढ़ी का विमान बनाता है।’’ 

क्या विंग कमांडर अभिनंदन लड़ाकू विमान उड़ा पाएंगे?

इस सवाल पर कि पाकिस्तान द्वारा गिरफ्तार किए गए विंग कमांडर अभिनंदन वर्द्धमान क्या भविष्य में फिर लड़ाकू विमान उड़ाएंगे,उन्होंने कहा,‘‘अगर वह स्वस्थ होंगे तो विमान उडांएगे।’’वायुसेना प्रमुख ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हम पायलट के स्वास्थ्य के साथ किसी तरह का समझौता नहीं कर सकते। 

क्या पाकिस्तान ने अमरीका के साथ करार का उल्लंघन किया?

पाकिस्तान के पिछले सप्ताह भारत के खिलाफ एफ16 विमान का इस्तेमाल करने के सवाल पर धनोआ ने कहा कि मुझे नहीं पता कि इसके इस्तेमाल को लेकर अमेरिका और पाकिस्तान के बीच क्या समझौता है। अगर समझौता यह है कि उसका आक्रामक उद्देश्य के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता तो मुझे लगता है कि उन्होंने समझौते का उल्लंघन किया है।

उन्होंने कि भारत के पास एएमआरएएम मिसाइल के टुकड़े हैं, जो उसने दिखाए हैं।धनोआ ने कहा,‘‘निश्चित रूप से, मुझे लगता है कि वह संघर्ष में एफ16 विमान गवां बैठा हैं। तो निश्चित रूप से वह विमान का इस्तेमाल कर रहे थे।’’

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget