मोदी होगा तो मुमकिन है,भारत गौमांस का सबसे बड़ा निर्यातक देश बना।- जगतगुरु शंकराचार्य


आजकल देश मे नया नारा उछला है कि 'मोदी है तो मुमकिन है'। इस नारे के परिपेक्ष्य में यदि भविष्य का चिन्तन करे तो साफ हो जाता है कि मोदी होगा तो मुमकिन है कि भारत लम्बे समय तक विश्व मे गौमांस का सबसे बड़ा निर्यातक देश बना रह जाये क्योंकि मोदी के होने से ये मुमकिन हुआ कि भारत गौमांस का सबसे बड़ा निर्यातक देश बना। जबकि इससे पहले ऐसा कभी नही हुआ था।

उक्त उद्गार ज्योतिष्पीठाधीश्वर एवं द्वारिका शारदापीठाधीश्वर जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती जी महाराज ने आज श्रीविद्यामठ काशी में चल रहे सत्संग प्रवचन में व्यक्त किये।

उन्होंने आगे कहा कि यह वही मोदी जी है जो गुजरात मे मुख्यमंत्री रहते बड़ी भवभंगिमा के साथ भाषण दिया करते थें कि 'देश मे हो रही गौहत्या को देखकर मेरा हृदय जल रहा है'। वे जनता से भी पूछने के अंदाज में कहते थे कि 'आपका कलेजा रो रहा है कि नही मुझे मालूम नही। मेरा कलेजा चीख चीख कर पुकार रहा है'। पर उन्ही मोदी जी ने प्रधानमन्त्री बनने के बाद देश को गौमांस का सबसे बड़ा निर्यातक देश बना दिया है। और मोदी जी के लोग बड़े गर्व से कहते हैं कि 'मोदी है तो मुमकिन है।' हम पूछना चाहते हैं की किन चीजों के लिए गर्व किया जा रहा है?

पूज्य शंकराचार्य जी ने आगे बताया कि यह मोदी जी ही हैं जिन्होंने प्रधानमंत्री बनते हैं क़त्लखानों को उद्योग से हटाकर कृषि की श्रेणी में डाला और कत्लखाने से एयरपोर्ट तक रोड टैक्स पूर्णतया समाप्त कर दिया। बीफ मीट निर्यात पर 10% टैक्स को घटाकर 6% कर दिया और कत्लखानों को किसानों की तरह कम कीमत की बिजली दी है। आगे भी अगर मोदी होंगे तो मुमकिन है गौहत्यारों को और भी सुविधाएं प्राप्त हो जाए।

श्री शंकराचार्य जी ने यह भी कहा कि यह मोदी जी ही थे जिन्होंने अपने स्तर पर गौरक्षा की कोशिश कर रहे नौजवानों को गुण्डा कहा था। इससे पहले के कांग्रेसी, कम्युनिष्ट या दूसरे दलों के या समर्थन के दूसरे प्रधानमंत्री ने तो यह दुस्साहस नही ही किया था। यह भी मोदी के होने से ही मुमकिन हुआ है।

पूज्य शंकराचार्य जी ने कहा कि मोदी सरकार जिस तरह से मुस्लिम तुष्टिकरण कर रही है आजादी के बाद से वैसा अभी तक की कोई भी सरकार नही कर पाई है। उदाहरण के तौर पर मोदी सरकार द्वारा अल्पसंख्यकों को ढ़ाई करोड़ छात्रवृत्तियां जिन मापदंडों पर दी गयी उन्ही मापदंडों पर एक भी हिन्दू छात्र को छात्रवृत्ति नही दी गई है।
Labels:
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget