बाबरी मस्जिद पर विवादित बयान देने पर प्रज्ञा ठाकुर पर एफआईआर दर्ज!

लोकसभा चुनाव 2019

source of image:google
मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा पर आचार संहिता उल्लंघन को लेकर एफआईआर दर्ज हो गई है। चुनाव आयोग ने उन पर एफआईआर दर्ज करने के आदेश दे दिए थे। यह आदेश भोपाल के जिला निर्वाचन अधिकारी ने दिए हैं।बाबरी मस्जिद पर दिए गए उनके बयान के मामले में चुनाव आयोग ने उनके जवाब को अस्वीकार कर दिया है।

इस मामले पर जवाब देते हुए प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि यह कानूनी मसला है और मेरी लीगल टीम इसे देख रही है।वहीं,भोपाल के एसडीएम संजय कुमार श्रीवास्तव ने कहा,प्रज्ञा ठाकुर को बाबरी मस्जिद पर दिए गए बयान पर चुनाव आयोग ने नोटिस भेजा था, जिसका संतोषजनक जवाब नहीं मिला। इसलिए उनके खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन को लेकर एफआईआर दर्ज की गई है।

क्या कहा था प्रज्ञा ठाकुर ने

मालेगांव ब्लास्ट में आरोपी और भाजपा प्रत्यासी प्रज्ञा ठाकुर ने शनिवार को कैंपेन के दौरान एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था, 'बाबरी मस्जिद का ढांचा गिराने का अफसोस नहीं है, ढांचा गिराने पर तो हम गर्व करते हैं।हमारे प्रभु रामजी के मंदिर पर अपशिष्ट पदार्थ थे,उनको हमने हटा दिया।' उन्होंने आगे कहा, 'हम गर्व करते हैं, इस पर हमारा स्वाभिमान जागा है, प्रभु राम जी का भव्य मंदिर भी बनाएंगे। ढांचा तोड़कर हिंदुओं के स्वाभिमान को जागृत किया है। वहां भव्य मंदिर बनाकर भगवान की आराधना करेंगे,आनंद पाएंगे।' 

साध्वी प्रज्ञा के इस बयान का चुनाव आयोग ने भी तुरंत संज्ञान लेते हुए उन्हें चुनाव आचार संहिता उल्लंघन का नोटिस थमा दिया और मामले में उन्होंने इस पर जवाब देने का आदेश भी दे दिया था। वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश उलेमा बोर्ड ने इस मामले में चुनाव आयोग में साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ शिकायत की है और मांग की है कि साध्वी प्रज्ञा का चुनाव निरस्त किया जाए।

शहीद हेमंत करकरे पर दिया था विवादित बयान

इससे पहले मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे को लेकर प्रज्ञा ठाकुर ने विवादित टिप्पणी की थी, जिसे उन्होंने वापस ले लिया था। इस पर भी चुनाव आयोग ने उन्हें नोटिस भेजकर 24 घंटे में जवाब मांगा था।

प्रज्ञा ने नोटिस के जवाब में कहा, 'मैंने अपने बयान में किसी शहीद की शहादत को लेकर कोई आपत्तिजनक बात नहीं कही है। मेरे बयान की एक लाइन को नहीं देखना चाहिए बल्कि मेरा पूरा बयान देखिए। मैंने तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा मुझे जो यातनाएं दी गईं, उनका जिक्र किया था।'


Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget