वाराणसी - 31 प्रत्याशियों का पर्चा वैध,पूर्व सैनिक तेज बहादुर यादव के नामांकन पर होगा फैसला आज

पर्वेक्षक (करीब 2 बजे दोपहर में) ने प्रत्याशी का नाम लेकर फाइल देख कर अवैध करार किया।




अंकुर पटेल 
विशेष संवाददाता 
वाराणसी संसदीय से कुल 102 प्रत्यासियो ने अपना नामांकन पत्र भरा था पर निर्वाचन अधिकारी के द्वारा जाँच करने पर 31 प्रत्यासियो का पर्चा वैध पाया गया।

प्रत्याशियों एवं विशेष दल के समर्थकों में झड़प

आज सुबह से ही नामांकन स्थल पर प्रत्याशियों एवं उनके समर्थकों की भीड़ जमा होना शुरू हो गई। जब एक-दो प्रत्याशियों का नामांकन पत्र इनवैलिड हुआ तो उनके समर्थक और प्रत्याशी जानकारों के मुताबिक नरेंद्र मोदी को अपशब्द बोलने लगे तभी विशेष दल के कुछ अधिवक्ता समर्थक उनका विरोध किया और नारेबाजी की। तब तुरंत प्रशासन के द्वारा भारी संख्या में फोर्स लगाकर उन्हें समझा-बुझाकर नामांकन स्थल से हटाया गया।

वैध प्रत्यासियो की सूची

1.अजय (इंडियन नेशनल काँग्रेस)
2.नरेंद्र मोदी (भारतीय जनता पार्टी)
3.शालिनी यादव (समाजवादी पार्टी)
4.आशुतोष कुमार पांडेय (मेरा अधिकार राष्ट्रीय दल) 
5.आशीष यू एस (इंडियन गांधियन पार्टी)
6.सुरेंद्र (सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी)
7.बृजेंद्र दत्त त्रिपाठी (आदर्शवादी कांग्रेस पार्टी)
8.श्याम नंदन प्रसाद (जनता पार्टी) 
9.संजय विश्वकर्मा (काशीराम बहुजन पार्टी) 
10.प्रेमनाथ (मौलिक अधिकार पार्टी) 
11.हरिभाई पटेल (आम जनता पार्टी) 
12.राजेश भारती सूर्य (राष्ट्रीय अंबेडकर दल)
13.अर्जुन रामशंकर मिश्रा (जन संघर्ष विराट पार्टी)
14.ईश्वर दयाल (भारतीय सबका दल) 
15.अमरेश मिश्रा (भारत प्रभात पार्टी) 
16.त्रिभुवन शर्मा (भारतीय राष्ट्रवादी समानता पार्टी) 
17.शेख सिराज बाबा (राष्ट्रीय मतदाता पार्टी)
18.राकेश प्रताप (भारतीय जन क्रांति दल) 
19.राजेंद्र गांधी (साधारण आदमी पार्टी)
20.मनोहर आनंद राव पाटिल (निर्दलीय)
21.सुनील कुमार (निर्दलीय)
22.मनीष श्रीवास्तव (निर्दलीय)
23.राजकुमार सोनी (निर्दलीय)
24.सुपन्नम इस्तारी (निर्दलीय) 
25.मानव (निर्दलीय)
26.चंद्रिका प्रसाद (निर्दलीय)
27.उमेश चंद्र कटियार (अल हिंद पार्टी)
28.रामशरण (विकास इंसाफ पार्टी)
29.अनिल कुमार चौरसिया (जनहित किसान पार्टी)
30.अतीक अहमद (निर्दलीय)
31. हीना शाहिद (जनहित भारत पार्टी)

गठबंधन प्रत्याशियों तेजबहादुर यादव व उनके वकील का आरोप

आज जब गठबंधन प्रत्याशी  तेज बहादुर यादव को करीब 3 बजे दोपहर निर्वाचन अधिकारी द्वारा उनके पर्चे को अवैद्य बोलकर एक नोटिस थमायी गयी जिसमे उनके पर्चे को section-9 के तहत अवैध किया गया। जब प्रत्याशी के अधिवक्ता राजेश गुप्ता ने निर्वाचन अधिकारी के समक्ष अपनी दलील पेश की तो दुबारा करीब 6 बजे शाम को पुनः एक और नोटिस निर्वाचन अधिकारी द्वारा दी गयी।जिसमे प्रत्याशी तेज बहादुर यादव को 1 मई 2019 ग्यारह(11) बजे तक भारत निर्वाचन आयोग द्वारा प्रमाण पत्र जमा करने को कहा गया।

प्रत्याशी व उनके अधिवक्ता ने साफ़ कहा ऊपर से दबाव के कारण ही वैद्य पर्चे को अवैद्य किया जा रहा है।

अधिवक्ता राजेश गुप्ता के अनुसार
जब वाराणसी निर्वाचन अधिकारी ने पर्चा देखकर वैद्य कहा और उतने में बाहर से आये पर्वेक्षक (करीब 2 बजे दोपहर में) ने प्रत्याशी का नाम लेकर फाइल देख कर अवैध करार किया। अधिवक्ता राजेश गुप्ता व प्रत्याशी तेज बहादुर का कहना है। 
"मतलब साफ है सोची समझी साजिश ताकि असली चौकीदार तेज बहादुर यादव चुनाव न लड़ सके"

नामांकन स्थल के कुछ दूरी पर कचहरी परिसर में प्रत्यासी श्री भगवान (राम राज्य परिषद न्याय) का पर्चा अवैध होने पर स्वामी अविमुक्तेस्वरानंद सरस्वती जी महाराज ने अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए रात्रि करीब 2 बजे तक समाचार लिखे जाने तक उनका धरना चलता रहा।

Exclusive: नोटिस के बाद गठबंधन प्रत्‍याशी तेज बहादुर यादव और उनके वकील का विशेष इंटरव्‍यू

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget