राष्ट्रीय सुरक्षा कानून पर कांग्रेस को कोसते समय राजनाथ सिंह यह भूल गए की,भाजपा ने पहले खुद किया था यही वादा

राष्ट्रीय सुरक्षा कानून


सीधी-सिंगरौली लोकसभा भाजपा प्रत्यासी के समर्थन में सिंगरौली पहुंचे गृह राजनाथ सिंह कांग्रेस पर जमकर बरसे लेकिन राष्ट्रीय सुरक्षा कानून पर कांग्रेस को कोसते समय यह भूल गए के भाजपा ने यही वायदा कांग्रेस से पहले किया था,जिसके लिए आज वह चुनावी रैली में कोस रहें हैं


आजतक की रिपोर्ट के अनुसार 2014 में बीजेपी ने भी AFSPA की समीक्षा का ऐसे ही वादा किया था। पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में बीजेपी के साथ हमारा गठबंधन हुआ था और दोनों पार्टियों के बीच कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बना था, उसमें AFSPA की समीक्षा करने की बात थी। महबूबा मुफ्ती ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा था कि पीडीपी ने बीजेपी के साथ अपने गठबंधन के एजेंडे में जिस मुद्दे को शामिल किया था, उसका समर्थन करके कांग्रेस ने बड़ा साहस दिखाया है। इसका मतलब साफ है कि AFSPA को लेकर कांग्रेस जो वादा इस बार के लोकसभा चुनाव में कर रही है. बीजेपी उसे पहले ही कर चुकी है।
मोदी सरकार के समय पूर्वोत्तर से अफस्पा (AFSPA )हटाया गया है। 2015 में त्रिपुरा से हटाया गया।2018 में मेघालय से भी हटा। अरुणाचल प्रदेश में भी इसे सीमित किया गया है। मगर जम्मू कश्मीर में इसे कभी नहीं हटाया गया।
क्या है कानून 

इससे सेना और सशस्त्र बलों को अशांत इलाके में विशेष अधिकार मिल जाता है। इस प्रावधान से लैस सेना बिना वारंट के सर्च कर सकती है, गिरफ्तार कर सकती है, फायरिंग कर सकती है।AFSPA 1958 में पूर्वोत्तर के राज्यों के लिए पारित किया गया। 1990 में जम्मू कश्मीर में लागू हुआ।
प्रतिक्रियाएँ:

एक टिप्पणी भेजें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget