साहित्य हमें परिस्थिति और स्वयं का आत्मावलोकन का दर्शन कराती हैं - डॉ. ओम प्रकाश सिंह


अंकुर पटेल
विशेष संवाददाता

हरिश्चंद्र स्नातकोत्तर महाविद्यालय, वाराणसी में हिंदी विभाग द्वारा वार्षिक सांस्कृतिक कार्यक्रम 'कलरव'2019 एवं साहित्योत्सव-2019 का आयोजन किया गया। जिसमें महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा, महाराष्ट्र के नवनियुक्त कुलपति प्रो. रजनीश शुक्ल का सम्मान भी किया गया। 

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रो. रजनीश शुक्ल, नव नियुक्त कुलपति एवं अध्यक्षता महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. ओम प्रकाश सिंह ने किया। कार्यक्रम के संयोजक एवं संचालन हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. बलबीर सिंह थे।  
बतौर मुख्य अतिथि नव नियुक्त कुलपति प्रो. रजनीश शुक्ला ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि साहित्य संवेदना से चलती हैं। हिंदी केवल भाषा नही है बल्कि, यह भारत की आत्मा हैं। हिंदी वो हैं जो भारतेंदु हरिश्चंद्र जी ने अपनी रचनाओं के माध्यम से हमें दिया। दुनिया भारत की हो इसके लिए आवश्यक हैं कि हिन्दी भाषा समृद्ध हो। प्रो. शुक्ला ने कहा कि हिंदी साहित्य के नवजागरण की भाषा हैं। आज नागपुर हिंदी के केंद्र के रूप में स्थापित हो रहा हैं जहां पर सर्वप्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन आयोजित हुआ। भारतेंदु ने हिंदी को राष्ट्र भाषा और भारत के सम्मान की भाषा के रूप में देखा। हिंदी हमारी मातृ भाषा तो हैं ही यह देश के संपर्क की और भारतीय चेतना की भी भाषा रही हैं। 

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्राचार्य डॉ. ओम प्रकाश सिंह ने कहा कि साहित्य हमें परिस्थिति और स्वयं का आत्मावलोकन का दर्शन कराती हैं, साथ संवेदना को जागृति करने का भी कार्य करती हैं। 

कार्यक्रम में नव नियुक्ति कुलपति प्रो. रजनीश शुक्ल का सम्मान महाविद्यालय के प्रचार्य डॉ. ओम प्रकाश सिंह, कार्यक्रम के संयोजक डॉ. बलबीर सिंह, डॉ. अमरेश त्रिपाठी द्वारा माल्यार्पण , स्मृति चिन्ह, अंगवस्त्रम प्रदान कर किया गया। साथ ही प्रो. शुक्ला जी का माल्यार्पण कर स्वागत महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. डॉ. उदयन मिश्र, मेजर डॉ. पी. के. पांडेय, डॉ. प्रभाकर सिंह, डॉ. आनंद द्विवेदी, डॉ. विश्वनाथ वर्मा, डॉ. अनुपमा शाही, डॉ. ऋचा सिंह, डॉ. रामाशीष सिंह, डॉ. प्रेरणा दुबे, डॉ. संजय कुमार सिंह, डॉ. बी. के. निर्मल, डॉ. राकेश मणि मिश्र, डॉ. गजेंद्र दास, डॉ. हृदयकांत पांडेय, डॉ. परमात्मा कुमार मिश्र , डॉ. चंद्र प्रभा गुप्ता, डॉ. साधना सिंह, डॉ. रेखा मेहता , डॉ. रुपाली श्रीवास्तव ने किया। 

कलरव एवं साहित्योत्सव-2019 के इस कार्यक्रम में प्राचार्य डॉ. ओम प्रकाश सिंह का सम्मान हिंदी विभाग की तरफ से किया गया। साथ ही डॉ. अवधेश कुमार सिंह, डॉ. ब्रजेन्द्र पाण्डेय, डॉ. अरविंद कुमार , डॉ. प्रेरणा दुबे ,श्री विजय कुमार का भी महाविद्यालय परिवार की तरफ से सम्मान किया गया। महाविद्यालय के प्राध्यापकों को भी नव नियुक्त कुलपति प्रो. रजनीश शुक्ला द्वारा माल्यार्पण कर स्मृति चिन्ह प्रदान कर किया गया। 

कार्यक्रम में हिंदी विभाग द्वारा पिछले दिनों आयोजित विभिन्न प्रतियोगिता में विजयी प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। जिसमें निबंध प्रतियोगिता में क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर वेद प्रकाश, पृथ्वी राज गौरव, व किशन शर्म को पुरस्कृत किया गया। प्रश्न मंच में वेद प्रकाश प्रथम, किशन शर्मा द्वितीय एवं पूनम कुमारी तृतीय स्थान पर पुरस्कृत हुई। वाद- विवाद प्रतियोगिता वेद प्रकाश प्रथम, द्वितीय आकांक्षा मिश्र, तृतीय मेराज अहमद व मोकिम अहमद को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम में रंगा-रंग कार्यक्रम छात्र-छात्राओं ने प्रस्तुत किया। जिसमें नृत्य, गीत, नाटक, काव्य पाठ आदि शामिल थे।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से डॉ. प्रभाक डॉ. राजेश कुमार झा, डॉ. प्रमोद तिवारी, डॉ. सुदीप सिंह, अशोक सिंह आदि शिक्षक , कर्मचारी गण और महाविद्यालय के छात्र- छात्रायें उपस्थित रहे ।
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget