योगी सरकार ने ओमप्रकाश राजभर का विभाग अनिल कुमार राजभर को दिया


अजीत नारायण सिंह,ब्यूरो वाराणसी 
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडे ने आज प्रेस वार्ता मैं बताया कि माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभरको मंत्री परिषद से बर्खास्त कर दिया है। उन्होंने बताया की मऊ जिले के हलधरपुर में बीजेपी कार्यकर्ताओं को गाली गलौज एवं आमर्यादित शब्दों से अलंकृत किया था जो किसी मंत्री को शोभा नहीं देता हैं। उनके इस कृत्य से बीजेपी कार्यकर्ताओं के मन में गहरा दुख व्याप्त है साथी ही उन्होंने कहा की सहयोगी गठबंधन धर्म का ओमप्रकाश राजभर द्वारा निर्वहन नहीं किया गया उन्होंने राजभर को फुटपाथ छाप नेता की संज्ञा भी दी।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पांडे ने कहां की ओमप्रकाश राजभर विगत काफी दिनों से सरकार मे मंत्री रहते हुए सरकार की काफी किरकिरी की। सरकार में मंत्री होते हुए भी हमेशा सरकार के विरोध में बयानबाजी करते रहे। जहां तक नैतिकता की बात है तो नैतिकता के आधार पर यदि सरकार के कार्य अच्छे नहीं थे तो उन्हें पहले ही त्याग पत्र दे देना चाहिए था,किंतु उन्होंने ऐसा नहीं किया जबकि बीजेपी सरकार उन्हें हमेशा गठबंधन धर्म का पालन करते हुए उन्हें मंत्री बनाए रखा।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बताया की ओमप्रकाश राजभर के पास जो जो विभाग था उसे अनिल कुमार राजभर को दे दिया गया है एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि हम उत्तर प्रदेश में पिछड़े एवं अन्य मतदाताओं के मतदान से उत्तर प्रदेश में 73 से ज्यादा शीट जीत रहे हैं इस दौरान मंत्री अनिल राजभर एवं सुशील सिंह विधायक मौजूद थे।
सरकार के अन्य पदों से हटाए गए अध्यक्ष सदस्य एवं निदेशकों का नाम इस प्रकार हैं।
1-उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग आयोग के
गंगा राम राजभर संत कबीर नगर (सदस्य)
विरेंद्र राजभर बलिया (सदस्य)
2-उत्तर प्रदेश पशुधन विकास परिषद के
सुदामा राजभर गाजीपुर (सदस्य)
3-सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विकास के
अरविंद राजभर बलिया (अध्यक्ष)
4-उत्तर प्रदेश बीज विकास निगम के
राणा अजीत प्रताप सिंह सुल्तानपुर (अध्यक्ष/निदेशक)
5-राष्ट्रीय एकीकरण परिषद के
सुनील अर्कवंशी हरदोई (सदस्य)
श्रीमती राधिका पटेल सुल्तानपुर (सदस्य)

मैंने तो पहले ही अपना इस्तीफा दे दिया था-ओमप्रकाश राजभर


ओमप्रकाश राजभर
अध्यक्ष सुहेलदेव समाज पार्टी 
'मैंने तो पहले ही अपना इस्तीफा दे दिया था, अब उनका जो मन हो वह करें। वह कह रहे थे कि हम उनकी पार्टी से चुनाव लड़ें, ऐसा करने पर तो हमारी पार्टी का अस्तित्व खत्म हो जाता। जिस विचार को लेकर हम आगे बढ़ रहे हैं, वह खत्म हो जाता।'

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget