गठबंधन देगा देश को नया प्रधानमंत्री सात दिन बाद

वाराणसी समाचार


अंकुर पटेल,विशेष संवाददाता

चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गढ़ वाराणसी में जमकर हमला बोला कहा यह सरकार जुमलो बाजो की सरकार है ,यह लोग सिर्फ वादा करते है,पर वादों को पूरा नही करते।

अखिलेश यादव ने कानून व्यवस्था से लेकर स्मार्ट सिटी और क्योटो के दावे का जिक्र करते हुए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी को झूठों की पार्टी का करार दिया।

उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार मंदिरों को तोड़कर हमारी धरोहरों को नष्ट कर रही है। स्मार्ट सिटी का नाम लेते हुए कहा कि आज काशी की गलियों में गंदगी फैली हुई है। आखिर कहा है क्योटो और स्मार्ट सिटी? कहा है पीएम के स्वच्छ भारत अभियान का नारा? उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी ने पीएम बनने से पहले गंगा मैया को साफ करने की कसम खायी थी, लेकिन जिनकी नियत ही साफ न हो वह गंगा मैया को क्या साफ करेंगे।

उन्होंने कहा कि बीजेपी वाले झूठ बोलते हैं कि उन्होंने बनारस को 24 घंटे बिजली दी। जबकि मुझे याद है कि इनकी पार्टी के वरिष्ठ विधायक जब धरने पर बैठे थे तो मैंने उन्हें लखनऊ बुलाकर 24 घण्टे बिजली देने का आश्वासन दिया था। उन्होंने कहा कि मेरी सरकार ने वरुणा को साफ करने का काम शुरू किया लेकिन जब बीजेपी की सरकार आई तो उसने इसे रुकवा दिया। 

अखिलेश ने कहा कि यह सरकार आतंकियों से लड़ने का दावा करती है। जबकि हमारे जवान लगातार शाहिद हो रहे हैं। जो तेज बहादुर से न लड़ सका वह आतंकियों से क्या लड़ेगा?

उन्होंने कहा कि यह सरकार कानून व्यवस्था की बात करती है। जबकि इन्होंने इसके किये कुछ भी नहीं किया। यूपी 100 भी हमारी सरकार ने शुरू किया है। कहा कि यह सरकार स्वच्छ भारत की बात करती है, दलितों के पैर धुलती है। साथ ही नौजवानों की नौकरियां भी साफ करती है। वहीं जाते जाते अखिलेश यादव ने दावा किया कि यह गठबंधन देश को नया प्रधानमंत्री देने जा रही है। बस सात दिन बाद।


जनसभा को सम्बोधित करते हुए तेज बहादुर यादव ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने हार जाने के डर से मेरा पर्चा निरस्त कराया। उन्होंने कहा कि मोदी जी से कुछ सवाल पूछना चाहता हूं यदि वह हमारे सवालों का जबाब दे दे तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा। 

वह 2014 से पहले कहते थे न खाऊंगा, न खाने दूंगा। फिर भ्रष्टाचार खत्म क्यों नहीं हुआ? अर्धसैनिक बलों को पेंशन तक नहीं? सेना के नाम पर वोट मांगते हैं लेकिन शाहिद का दर्जा नहीं?

Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget