काश नाम बदलने के बजाय काम होता तो हमारे बच्चे गोबर-गणेश साबित न होते !

उत्तर प्रदेश में शिक्षा का क्या हाल है जान लीजिए!


उत्तर प्रदेश के 165 स्कूल ऐसे हैं जहां के बच्चे गोबर गणेश साबित हुए,कहने का मतलब 165 स्कूल ऐसे हैं जहां एक भी बच्चा पास नहीं हुआ है।इनमें से 96 स्कूलों के 10वीं के सभी छात्र फेल हैं जबकि 69 स्कूल ऐसे हैं जिनका 12वीं का रिजल्ट जीरो है। 2018 की तुलना में शून्य रिजल्ट देने वाले स्कूलों की संख्या में वृद्धि हुई है। पिछले साल 150 स्कूलों का परिणाम शून्य था। हालांकि 2017 में 183 स्कूल ऐसे थे जिनका एक भी छात्र पास नहीं हो सका था।
जिस जिले का नाम बदलने के लिए योगी सरकार ने पैसा पानी की तरह बहा दिया,पूरे देश क्या विदेशों के मिडिया में भी चर्चा हुआ, काश इतना सब कुछ उसी जिले में स्थित बच्चों का भविष्य गढ़ने वाले उत्तर प्रदेश शिक्षा बोर्ड के मुख्यालय पर होता तो कम से कम उस जिले के स्कूल का परिणाम शून्य नहीं होता। आज बच्चों के भविष्य के लिए चिंतित माता-पिता भी सोंच रहे होंगे के काश नाम बदलने के बजाय शिक्षा सुधार के लिए काम होता तो हमारे बच्चे गोबर-गणेश साबित न होते!
प्रयागराज में सात हाईस्कूल स्कूल ऐसे हैं जिनका एक भी छात्र पास नहीं हुआ।न्यू ब्राइट गर्ल्स इंटर कॉलेज करेली, एचएलपी हायर सेकेंडरी स्कूल मवैया, एसएस निकेतन हायर सेकेंडरी नैनी, लिटिल हार्ट्स हायर सेकेंडरी नैनी, जीपीवाईएस हाईस्कूल, जेडी मेमोरियर पब्लिक स्कूल नासिरपुर अंदावा झूंसी, आरजीएस कॉलेज हेतापट्टी झूंसी का परिणाम शून्य है। इंटर में तीन स्कूलों का परिणाम शून्य है। शारदा इंटर कॉलेज नौडिहा तरहार, बीएनडी मेमोरियल गर्ल्स इंटर कॉलेज उग्रसेनपुर, बीआर सिंह बालिका इंटर कॉलेज नैनी का रिजल्ट जीरो है।

यूपी बोर्ड के डायरेक्टर विनय कुमार पांडे बताते हैं कि ऐसा परिणाम नक़ल के खिलाफ उठाये सख्त कदमों की वजह से आया है
साहेब नकल रोकना तो ठीक बात है,लेकिन क्या उत्तर प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था ऐसी है जिसमें नक़ल के बिना पास होना इतना मुश्किल है! एक तथ्य और जान लीजिए साहेब भारत के 10 सबसे अशिक्षित राज्यों में उत्तर प्रदेश सातवें स्थान पर है,ऐसे में शिक्षा को प्रमुखता देने के बजाय यह हाल!
मौजूदा समय में चुनाव चल रहा है और नेता राजीनीति के मंच से ऐसे ऐसे ज्ञान की गंगा बहाते हैं की पूरी दुनियां स्तब्ध रह जाती है।ऐसे नेताओं को  राफेल, सुप्रीम कोर्ट, राष्ट्रवाद,अली बजरंगबली से फुर्सत ही नहीं की देश के भविष्य इन बच्चों को दिए जा रहे शिक्षा व्यवस्था और नकल के बिना गोबर-गणेश साबित हो रहे उत्तर प्रदेश के युवराजों के विषय में तनिक भी सोंचें।  
Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget