सिंगरौली : कलेक्टर साहेब हमारे बीवी बच्चे तड़प तड़प कर मर जाएंगे।,मामला तेंदुपत्ता वन समिति ओवरी का

दे रहे हैं उतना ले लो नहीं तो यह भी नहीं पाओगे। मुंशी


मुन्शी स्वयंवर सिंह अपने नए-नए कारनामो से रहते हैं सुर्ख़ियों में 

सिंगरौली।। मामला तेंदूपत्ता समिति ओवरी में फड़ क्रमांक 2 में मुंशी स्वयंबर सिंह द्वारा मनमानी ढंग से 1000 से 1500 तक गड्डियां काटी जा रही हैं श्रमिकों द्वारा अपने पत्ती की मजदूरी मागने पर मुन्शी के द्वारा ऊपर तक पहुंच का धौंस जताते हुए सीधा जवाब दिया जाता है जितना दे रहे हैं उतना ले लो नहीं तो जो करना है करते रहो।

पीड़ित राजेश कुमार ने बताया कि मेरा गड्डी मुंशी के द्वारा काटा गया अभी तक तेंदूपत्ता कार्ड नहीं दिया गया था जबकि सरकार द्वारा तेंदूपत्ता खरीदते समय ही कार्ड पर गड्डियो को दर्शाया जाता है बिक्री के 15 से 20 दिन बाद तक कार्ड वितरण नहीं किया गया।


मुंशी द्वारा जंगल चौकी में बुलाकर कार्ड और पैसा एक साथ दिया जा रहा है। 1100 गड्डी काटी गई है जिसका पैसा 2750 रुपए होता है।
मैं (पीड़ित) इतनी बड़ी रकम कैसे छोड़ दूं गर्मी दुपहरी में अपने परिवार के साथ पत्ती तोड़ा था अगर हमें अपने खून पसीने की कमाई पैसा छोड़देगें तो हमारे बीवी बच्चे तड़प तड़प कर मर जाएंगे।
वहीं पीड़ित श्रमिक लालबाबू के द्वारा बताया गया कि पिछले राजेश के साथ जो हुआ वही उनके साथ भी हुआ।जिनका 680 गड्डी काटी गई है जिसका रकम 1700 होता है उन्होंने कहा कि मेरा पैसा दे दीजिए मुंशी स्वयंवर द्वारा कहा गया कि जो दे रहे हैं उतना ले लो नहीं तो यह भी नहीं पाओगे ।

सुनिए श्रमिकों का दर्द 


वही अजीत कुमार के द्वारा बताया गया कि तेंदूपत्ता गड्डी 680 गड्डी काटी गई हमने कार्ड को देखा तो हमने कहा कि हमारे गड्डी कम है तो मुंशी के द्वारा डांट फटकार कर हटाया गया।और मुंशी द्वारा कहा जा रहा है कि पैसा नहीं दूंगा क्या करोगे हम गरीब व्यक्ति का खून पसीने की कमाई मारी जा रही है हम लोगों को साथ अन्याय हो रहा है।

समिति के अंदर जितने भी श्रमिक हैं सबका कुछ ना कुछ गड्डी काटी जा रही है सवाल ये उठता है कि समिति के अंदर कम से कम 100 200 श्रमिक होंगे सभी का इतनी बड़ी रकम काटी जा रही है तो सरकार के नियमों का मुंशी द्वारा उड़ाया जा रहा धज्जियां एवं लाखों की की जा रही है घोटाला।



Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget