Cricket World Cup 2019 : हार का दुःख है लेकिन टीम इंडिया के हौसले बुलंद हैं - शैला अहमद


विश्व कप अभियान की सेमीफाइनल मैच में टीम इंडिया को न्यूजीलैंड के हाथों 18 रन से हार का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही टीम इंडिया का वर्ल्ड कप जीतने का सपना टूट गया। न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने 240 रन का लक्ष्य रखा था। जवाब में भारतीय टीम 221 रन पर ऑलआउट हो गई।

टीम इंडिया के लिए महेंद्र सिंह धोनी 50(72) और रवींद्र जडेजा 77(59) ने मिलकर वापसी कराई। दोनों के बीच सातवें विकेट के लिए 116 रनों की साझेदारी हुई। मैच में बेहद करीब आने के बाद टीम इंडिया को अंत में हार का सामना करना पड़ा। 

आइए जानते हैं कि भारत की हार पर किसने क्या कहा?

मंगेशकर ने ट्वीट किया, ‘‘नमस्कार धोनी जी। आज कल मैं सुन रही हूं कि आप रिटायर होना चाहते हैं। कृपया आप ऐसा मत सोचिए। देश को आप के खेल की जरूरत है और ये मेरा भी अनुरोध है कि रिटायरमेंट का विचार भी आप मन में मत लाइये।’’
कांग्रेस नेता व पूर्व सांसद और भारतीय क्रिकेट बोर्ड की सचिव शैला अहमद ने कहा,"विश्व कप की सेमीफाइनल मैच में टीम इंडिया को हार का सामना करना पडा इसका दुःख है ,लेकिन टीम इंडिया के हौसले बुलंद हैं,जल्द ही बेहतर परिणाम के साथ वापसी करेंगे।’’
सचिन तेंदुलकर ने कहा ,'मैं निराश हूं क्योंकि हमें बिना किसी संदेह के 240 रन का लक्ष्य हासिल करना चाहिए था। यह बड़ा स्कोर नहीं था। हां, न्यूजीलैंड ने शुरुआत में ही तीन विकेट चटकाकर स्वप्निल शुरुआत की। हमें अच्छी शुरुआत के लिए हमेशा रोहित या ठोस आधार तैयार करने के लिए कोहली पर निर्भर नहीं रहना चाहिए। उनके साथ खेल रहे खिलाड़ियों को भी अधिक जिम्मेदारी लेनी होगी। यह सही नहीं है कि हर बार धोनी से मैच को फिनिश करने की उम्मीद की जाए। वह बार-बार ऐसा करता आया है।'
गांगुली ने कहा ,‘‘ भारत को उस समय अनुभव की जरूरत थी । पंत के क्रीज पर रहने के समय धोनी साथ होते तो उसे हवा के विपरीत वह शाट नहीं खेलने देते । इंग्लैंड में यह काफी अहम है ।’’ उन्होंने कहा ‘‘ चयनकर्ता पिछले डेढ साल में मध्यक्रम का संयोजन नहीं बना सके । हर बार रोहित और विराटपर निर्भर नहीं रह सकते ।’’

Reactions:

Post a Comment

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget