NTPC ने BGR के अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते किया कोयला खनन समझौता समाप्त


उर्जांचल टाइगर न्यूज डेस्क 

एनटीपीसी (NTPC)ने (BGR)बीजीआर माइनिंग एंड इंफ्रा लिमिटेड के साथ झारखंड और छत्तीसगढ़ में अपनी कोयला खानों के विकास एवं खनन का समझौता समाप्त कर दिया है। कंपनी ने यह फैसला बीजीआर के वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगने के चलते लिया है। 

एनटीपीसी ने चार जुलाई 2019 को भेजे दो अलग पत्रों में झारखंड की चट्टी-बारिआतु कोयला खान और छत्तीसगढ़ कर तलाईपल्ली कोयला खान से जुड़े समझौतों को समाप्त कर दिया है।कंपनी ने बीजीआर को एक निजी खनन कंपनी के तौर पर इन दोनों खानों का ठेका नवंबर 2017 को दिया था।
  • दिसंबर 2017 में सीबीआई ने समझौता करने में आपराधिक षंड्यंत्र, लोक अधिकारी द्वारा प्राधिकारी व्यक्ति की अनुमति के बिना मूल्यवान वस्तू रखने और अवैध रूप से रिश्वत लेने का मामला दर्ज किया था। 
  • यह प्राथमिकी एनटीपीसी के वित्त निदेशक कुलमणि बिस्वाल और बीजीआर के निदेशकों में से एक रोहित रेड्डी एवं उसके सहयोगी प्रभात कुमार के खिलाफ दर्ज की गयी।
न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार इस संबंध में बीजीआर माइनिंग की टिप्पणी के लिए भेजे गए ई-मेल का कोई जवाब नहीं मिला है। इसी तरह कंपनी के वरिष्ठ निदेशक आई सुधाकर रेड्डी को किया गया कॉल भी अनुउत्तरित रहा।

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget