हमारी प्राथमिकता अधिवक्ताओं की तर्ज पर चिकित्सकों को भी भत्ता दिलाना - डॉ शैलेश राय


अंकुर पटेल (विशेष संवाददाता)
भारतीय केंद्रीय चिकित्सा परिषद (CCIM) नई दिल्ली के चुनाव की अधिसूचना आयुष मंत्रालय भारत सरकार के दिशा-निर्देश पर उत्तर प्रदेश राज्य से आयुर्वेदिक के चार सदस्यों और यूनानी के दो सदस्यों को निर्वाचन हेतु। 



उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा दिनांक 12 जून 2019 को अधिसूचना जारी हुई। इसके तहत 36 उम्मीदवारों ने चुनाव में प्रतिभाग किये। प्रथम बार संशोधित नियम के तहत जिलेवार एक मतदान केंद्र और पूरे प्रदेश में 75 मतदान केंद्र बनाकर भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच 18 जुलाई 2019 को मतदान संपन्न कराया गया। मतगणना 21 जुलाई 2019 को लखनऊ में की गई। जिसमें आयुर्वेदिक के अध्यक्ष वायस ऑफ आयुर्वेदिक व सदस्य भारतीय चिकित्सा परिषद उत्तर प्रदेश डॉक्टर शैलेश कुमार राय तथा डॉक्टर एसएन सिंह, डॉ पीसी चौधरी,डॉ अतुल प्रताप सिंह तथा यूनानी से डॉ अलाउद्दीन व डॉ तव्वाव सर्वाधिक मतों से विजई घोषित किए।

 डॉ शैलेश कुमार राय ने प्रदेश के सभी आयुर्वेदिक चिकित्सकों एवं चुनाव को संपन्न कराने में लगे अधिकारियों व कर्मचारियों का आभार व्यक्त करते हुए बताया कि

हमारी प्राथमिकता आइ वी के प्रतिबंध को दूर करने
  • पीएनडीटी एक्ट व रेडियो डायग्नोस्टिक में आयुर्वेदिक को सम्मिलित करना
  • पाठ्यक्रम को और बेहतर कराना शिक्षण प्रशिक्षण संस्थाओं की गुणवत्ता बेहतर बनाना
  • आयुर्वेदिक को आयुष्मान योजना से जोड़ना
  • अधिवक्ताओं की तर्ज पर चिकित्सकों को भी भत्ता  दिलाना
  • आयुर्वेदिक सेवाओं में रोजगार सृजन व वेतन विषमता को दूर करना
  • नवीनीकरण को समाप्त करना है
 प्रेस वार्ता में डॉक्टर शैलेश कुमार राय के साथ पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष व सदस्य भारतीय चिकित्स परिषद उत्तर प्रदेश डॉक्टर आजाद सिंह गौतम, डॉ पी के सिंह व डॉक्टर प्रमोद मिश्रा उपस्थित थे।

Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget