ESSAR बंधौरा : ऐसडैम कम्पनी के लापरवाही के कारण टूटा, पड़ सकता है रहवासियों दूषित प्रभाव !


ESSAR एस्सार पावर एमपी लिमिटेड बन्धौरा के द्वारा निर्मित ऐसडैम 7 अगस्त 2019 को टूटने के कारण संबंधित क्षेत्र के रहवासियों के आवास सहित फसल क्षतिग्रस्त हुई थी। जिसको कलेक्टर  केवीएस चौधरी के द्वारा इस घटित घटना को तत्काल गंभीरता पूर्वक लेते हुयें जहा स्यंम रात्रि में 7 अगस्त को घटना स्थल पर पहुंचकर मौके का मुआयना किया गया था। तथा रात्रि में ही राहत एवं बचाव कार्य प्रारंभ कराया गया था। 
कलेक्टर के द्वारा इस घटना की जॉच के लिए एसडीएम माड़ा विकास सिंह के नेतृत्व में जॉच दल गठित कर निष्पक्ष जॉच कर प्रतिवेदन देने हेतु निर्देश दिया गया था। 
मेड़ निर्धारण मानक रूप पर नही किया गया था।

एसडीएम माड़ा सिंह के द्वारा  प्रस्तुत किए गए जॉच प्रतिवेदन में उल्लेख किया गया है, कि ऐसडाईक टूटने का मख्य कारण मेड़ निर्धारण मानक रूप पर नही किया गया था। मेड़ में केवल मिट्टी एवं राख का उपयोग किया गया। तथा बोल्डर एवं छोटी कांक्रीट से पिचिंग नही की गई है।

जॉच प्रतिवेदन की प्रमुख बातें 

जॉच प्रतिवेदन में बाध के मेड़ में अधिक दरार होने के कारण 7 अगस्त 2019 को अत्यधिक वर्षा होने से जल भराव होनें के कारण बाधा टूटने से उसमे भरा मलबा राखड़ पानी के साथ बह गया। 

  • एस्सार कम्पनी के द्वारा घोर लापरवाही के कारण यह घटना घटित हुई है।
  • कम्पनी से निकलने वाला मलवा राख पानी का भराव इस बाधा में होता है कम्पनी के द्वारा बाध के मेड़ो की मरम्मत सुंरक्षा एवं बाध के अंदर मलबे को हटाने का कार्य नही किया गया।
  • किसी भी अधिकारी के द्वारा समय समय पर बाधा की देख रेख की गई।
रहवासियों पर इसका दूषित प्रभाव पड़ सकता है।

जॉच प्रतिवेदन में यह भी उल्लेख किया गया है कि समय रहते यदि टूटे बाध का मरम्मत नही किया जाता तो बाध में अंदर बचे मलबे का बहाव वर्षा होने के कारण लगातार बाहर निकलता रहेगा। जिसके कारण संबंधित क्षेत्र में स्थित नदी नालो में भी इसका अत्यन्त हानिकार प्रभाव पड़ने की संभावना बन सकती है। यह भी उल्लेख किया गया की,गंदे पानी के फैलाव के कारण आस पास के रहवासियों पर इसका दूषित प्रभाव पड़ सकता है।




8:35 pm

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget