बिजली विभाग :साहेब,चले अवकाश के दिन लोगों के घरों को अँधेरा करने !


ब्यूरो,उर्जांचल टाइगर 

बिजली कटेगी तो मामा की याद आएगी, चुनाव प्रचार के समय यह बात पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा था, यह बात आज सिंगरौली की जनता को याद आ रही है,क्योंकि ठीक भगवान श्रीकृष्ण के जन्मदिन ही बिना पूर्व सूचना के साहेब ने सबके घरों का बिजली काट कर अंधकारमय कर दिया।
साहेब को बिजली काट कर लोगों को परेशान देखने का मन शायद इतना ज्यादा था के सुबह-सुबह ही दौड़ चले,उन्हें लगा कहीं ऑफिस खुल जाएगा,और बिजली बिल जमा हो गया तब ... ।
बिजली ऑफिस से कुछ लोग जो बिजली का बिल जमा कर लौटे तो उन्होंने देखा की उनका बिजली कट गया है,और जब वापस ऑफिस कम्प्लेन दर्ज कराने पहुंचे तो  कर्मचारीयों को आज अवकाश है याद आ गया। वाह साहेब आपको बिजली काटते समय अवकास याद नहीं आया और जोड़ते समय अवकाश।

परेशान जनता आवाक है,और शायद उनके कानों में पूर्व मुख्यमंत्री की बात वह बात जिसमें उन्होंने कहा था बिजली कटेगा तो मामा की याद आएगी, गूंज रही है, तभी तो लोग कहते हुए सुने गए भाई, मामा के राज में तो ऐसा न था।

उर्जांचल टाइगर की टीम ने बिजली विभाग के साहेब से बात करना चाहा तो किसी ने कहा यह मेरे क्षेत्र में नहीं आता तो कोई फोन ही नहीं उठाया इसलिए उनका पक्ष यहां नहीं लिखा गया।जब साहेब अपना पक्ष से अवगत कराएंगे तब उनका पक्ष अवश्य अपडेट किया जायेगा। 

वह सवाल जिनके जवाब बिजली विभाग बैढन के अधिकारीयों से जनता पूछ रही है 
  1. भगवान कृष्ण जी के जन्मदिन पर सुबह-सुबह बिना पूर्व सुचना के आम जनता का बिजली काटने  का आदेश किसने दिया? क्या  यह आदेश मध्यप्रदेश शासन के तरफ से आया था?
  2. पूर्व में कोई नोटिस क्यों नहीं दिया गया?
  3. जिनका बिजली बिल ऑफिस टाइम पर भुगतान कर दिया गया,उनको हुई असुविधा के लिए कौन जिम्मेदार है?
  4. बिजली काटने में साहेब दौड़ लगा रहे थे तो कंप्लेन करने के बाद जोड़ने में विलंब क्यों?
  5. बड़े बकायेदारों पर साहेब इतनी फुर्ती क्यों नहीं दिखाते?
  6. जो नंबर आम जनता के सुविधा के लिए सार्वजनिक है उस नंबर को रिसीव क्यों नहीं किया जाता?
प्रतिक्रियाएँ:

एक टिप्पणी भेजें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget