जन समस्या : शासकीय माध्यमिक शाला चहली के छात्र तालाब का दूषित पानी पीने को विवश है


जन समस्या 
धर्मेन्द्र शाह 
देवसर(सिंगरौली)।लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग उप संभाग देवसर में किस कदर लापरवाही व स्वेच्छाचारिता हावी है इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है शासकीय माध्यमिक शाला चहली में लगे हैंडपंप। शाला परिसर में देखने के तो चार - चार हैंडपंप हैं किंतु दुर्भाग्य की बात तो यह है कि उक्त शाला परिसर के एक भी हैंडपंप चालू हालत में नहीं है और चारों हैंडपंप पानी की जगह सिर्फ हवा उगल हैं। 

बताया जाता है कि जनपद पंचायत देवसर अंतर्गत ग्राम पंचायत बंधा के ग्राम चहली स्थित शासकीय माध्यमिक शाला परिसर में कहने को तो चार - चार हैंडपंप हैं किंतु लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की लापरवाही से उक्त चारों हैंडपंप विगत छ: महीने से हवा उगल रहे हैं। ऐसे में विद्यालय में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को पीने के पानी की गंभीर समस्या है तथा विद्यालय के छात्र पास में ही स्थित एक तालाब का दूषित पानी पीने को विवश है। 

बरसात के दिनों में सुरक्षित जल स्रोतों, कुआं ट्यूबवेल आदि का भी पानी दूषित हो जाता है तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि तालाब व नदी का पानी पीने योग्य कैसे हो सकता है? फिर भी चहली के छात्र वही दूषित पानी पीने को मजबूर हैं। यदि माध्यमिक शाला चहली की पेयजल समस्या का तत्काल समाधान नहीं किया गया तो लगभग तीन सौ छात्रों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है। ख़बर के माध्यम से स्थानीय लोगों ने प्रशासन द्वारा मामले को गंभीरता से लेते हुए उचित कार्यवाही की मांग की है।

Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget