मासूमो कि जान जोखिम में डाल फरार हुए चालक पर कार्यवाही कब?


श्रीराम विश्वकर्मा

देवसर(सिंगरौली)।। बीते रात सिंगरौली से सतना जा रही पुष्पराज बस के चालक ने शराब पी कर बस को रवाना किया लेकिन जैसे ही बस सजहर के जंगल मे पहुँची तभी चालक को शराब के नशे ने अपने में ले लिया और शराबी चालक रफूचक्कर हो गया 40 यात्रियों से भरी बस जिसमे बूढ़े,बच्चे, महिला,पुरुष सभी ने पूरी रात जंगल मे गुजारा।इतना ही नही पुष्पराज बस के चालक के साथ कंडक्टर भी किसी यात्री का टिकट का लिया पैसा न लौटाते हुए फरार था।

शहर मे यह चर्चा हर चौक चौराहे पर है की इतना क्या सख़्त यातायात नियम आम जनता के वाहन चेकिंग कर दोहन भर के लिए है,या ऐसे बस चालकों के लिए भी है लागू होता है जो आमजनता के जिंदगियो को दांव पे लगा कर जंगल मे छोड़ कर फ़रार हो जाते हैं। अब आम जनता की निगाहें इस बात पर टिकी है कि,क्या  जंगल मे छोड़ कर जिंदगी को दाव पर लगाने वाले चालक पर क्या कार्रवाई होती है या खानापूर्ति कर मामले को रफा दफा कर दिया जाता है?

प्रतिक्रियाएँ:

एक टिप्पणी भेजें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget