अब कम्प्यूटर माउस के एक क्लिक पर ट्रेने दौडे़ंगी।

टूंडला स्टेशन में अत्याधुनिक इलेक्ट्रानिक इंटरलाकिंग प्रणाली शुरु -  गौतम
क्षेत्रीय रेल उपयोगकर्ता परामर्शदात्री उ0म0 रेलवे सदस्य श्री एस.के. गौतम ने बताया कि दिनांक 07.03.2019 को समिति बैठक में मेरे द्वारा दिए सुझाव/एजेन्डा एवं चेयर मैन रेलवे बोर्ड विनोद कुमार यादव को मिलकर सौंपे पत्र के आधार पर इलाहाबाद मंडल के टूंडला जं0 रेलवे स्टेशन पर इलेक्ट्रानिक इंटरलाकिंग यार्ड रिमाॅडलिंग के साथ कार्य पूर्ण हो गया। 

अब कम्प्यूटर माउस के एक क्लिक पर ट्रेने दौडे़ंगी। 

अभी तक 1955 में बनाए गये केबिन सिस्टम से संचालन किया जा रहा था। देश में अब तक पहली सबसे बड़ी इलेक्ट्रानिक इंटरलाकिंग खड़गपुर में 800 रुटों के साथ की गयी थी। जिसके बाद अब टूंडला में 613 रुटों के साथ सबसे ब़ड़े चैलेन्ज को रेलवे ने 4 माह में पूरा कर लिया। इसमें तीन लाईन आगरा, दो लाईन दिल्ली हावड़ा की ओर है। इसमें 9 काॅलिंग संचालित 158 प्वांटस, 59 मुख्य सिंग्नल, 100 पॉइंटसिंग्नल, 222 ट्रैक सर्किट प्वाइंट तैयार किए गए।

यार्ड रिमाॅडलिंग एवं इलेक्ट्रानिक इंटरलाॅकिंग कार्य पूण होने से अब ट्रेनों का सुरक्षित संचालन होगा। प्लेटफाॅर्म संख्या 3 एवं 4 की लम्बाई बढ़ाकर 600 मीटर कर दिया गया है। साथ हीं दो नए प्लेटफार्म का इजाफा करते हुए डायमंड क्रासिंग को भी समाप्त कर दिया गया है। गुड्स लाईन को कोचिंग लाईन में परिवर्तित किया गया है। ए.आर.एम.ई. साइडिंग भी बनाई गयी है।

Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget