जानिए,सिंगरौली जिले के प्रभारी मंत्री ने 115 करोड़ रूपये से निर्मित किन कार्यों की स्वीकृती प्रदान की


उर्जांचल टाइगर कार्यालय 

सिंगरौली।।जिले के प्रवास पर आये हुये जिले के प्रभारी मंत्री प्रदीप जयसवाल मंत्री खनिज साधन मंध्यप्रदेश शासन के अध्यक्षता में एवं कमलेश्वर पटेल मंत्री पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग मध्यप्रदेश शासन की गरिमामय उपस्थिति में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला खनिज प्रतिष्ठान, रोगी कल्याण समित तथा लोक निर्माण विभाग की समीक्षा बैठक आयोजित हुई।

बैठक के दौरान कलेक्टर के.वी.एस. चौधरी के द्वारा माननीय द्वय मंत्री सहित समित के सदस्यों का स्वागत करते हुयें सर्व प्रथम खनिज प्रतिष्ठान के आय व्यय की जानकारी से अवगत कराया गया। वही नवीन कार्यो के संबंध में भी समिति को अवगत कराया गया। 
प्रभारी मंत्री ने इन कार्यों की स्वीकृती प्रदान की
उच्च प्राथमिकता के कार्यो में स्वरोजगार आर्थिक गतिविधियो के प्रोत्साहन हेतु दो हजार मैट्रिक टन क्षमता के उर्पाजन भण्डरण केन्द्रों का 23 नग निर्माण किया जाना जिसकी अनुमानित लागत रूपये 34 करोड़ 50 लाख तथा 2 सौ नग आगनवाड़ी भवन निर्माण हेतु 17 करोड़, आठ नग छात्रावास भवन निर्माण हेतु 20 करोड़ तथा कृषि विज्ञान केन्द्र की बाउन्ड्रीवाल निर्माण हेतु 3 करोड़ 75 लाख अनुसूचित जाति एवं जन जाति छात्रावासो हेतु सामंग्री क्रय करने हेतु 1 करोड़ 17 लाख, रवि फसलो के बीज वितरण हेतु 75 लाख सहित दिव्यांग जानो हेतु कृतिम एवं सहायक उपकरण क्रय करने हेतु 50 लाख रूपयें तथा जिला चिकित्सालय बैढ़न में कर्मचारियो के व्यवस्था हेतु 15 लाख तथा नवीन हवाई पट्टी सिंगरौलिया के निर्माण के हेतु 35 करोड़ 30 लाख इसके साथ ही 5 नग पंचायत भवन निर्माण हेतु 75 लाख के प्रस्ताव समिति के समंक्ष रखे गये।चर्चा उपरान्त प्रभारी मंत्री के द्वारा समस्त कार्यो की स्वीकृती प्रदान की गई। 

रोगी कल्याण समिति के आय व्यय के संबंध में प्रभारी मंत्री सहित समित के सदस्यों को अवगत कराया गया। जिसके तहत जिला चिकित्सालय बैढ़न में पॉच वार्ड बाय तथा पॉच वार्ड आया आउट सोर्स के माध्यम से रखे जाने की स्वीकृती प्रदान की गई। तथा नवीन जिला चिकित्सालय कम ट्रामा सेंटर हेतु सड़क निर्माण कराने की चर्चा उपरान्त स्वीकृती प्रदान की गई।

बैठक के दौरान प्रभारी मंत्री के द्वारा निर्देश दिया गया कि जो प्राथमिक तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र निर्मित किये गये उनका लोकार्पण शीघ्र कराया जाये तथा जिला स्वास्थ्य केन्द्र सहित सामुदायिक केन्द्रों मे भी आयुष्मान कार्डो का शीघ्र अति शीघ्र पंजीयन कराया जाये। उन्होने ने यह भी निर्देश दिया कि संस्थागत प्रसव होने के पश्चात महिला को मेडकल किट प्रदान किया जाये जिसमें जच्चा बच्चा हेतु आवश्क दवाऐ उपलंब्ध हो। 

बैठक के दौरान कलेक्टर के द्वारा स्वरोजगार गतिविधियो के संचालन के संबंध में अवगत कराया गया जिसके तहत 
  • रोजगार मूलक योजनाओं के तहत 1000 बेराजगार युवाओं को सुरंक्षा गार्ड एवं सुपरवाईजर का प्रशिक्षण दिये जाने की व्यवस्था की गई है। 
  • कौशल विकास के तहत पॉच सौ युवाओं तथा युवतियों को सिलाई मशीन आपरेटर एवं गुणवत्ता निरीक्षक का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 
  • महिला शासक्तिकरण समूह के सदस्यों को बकरी पालन हेतु सेड निर्माण के साथ ही समूह के दो हजार सदस्यों को सब्जी उत्पादन हेतु आर्थिक सहायता राशि उपलंब्ध कराई जा रही है। 
कलेक्टर ने बताया कि स्वरोजगार गतिविधियो के संचालन पर चर्चा उपरान्त 1 करोड़ 50 लाख की स्वीकृती प्रदान की गई। वही विद्यालयो में ड्यूल डेस्क आपूर्ति हेतु 4 करोड़ के राशि की स्वीकृती प्रदान की गई। इसके अतिरिक्त विकास के अन्य कार्यो के लिए चर्चा उपरान्त स्वीकृती प्रदान की गई। 

Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget