प्राईवेट सिक्योरिटी कंपनियां NCL को दीमक की तरह चाट रही, साठ-गांठ कर खदान मे कराते है कबाड़-डीजल की चोरी


उर्जांंचल टाईगर कार्यालय बैढन 

सिंगरौली/ सोनभद्र।। शक्तिनगर थाना अंतर्गत एनसीएल खड़िया परियोजना के कोयला खदान के ओबी सेक्शन में मंगलवार सुबह लगभग 4:00 बजे, एनसीएल सुरक्षा गार्डो के द्वारा पेट्रोलिंग के दौरान संदिग्ध दिख रही गाड़ी से पूछताछ किया गया तो कबाड़चोर पिकअप MP 66 G 1034 छोड़कर रफूचक्कर हो गए। 

सुत्रो के हवाले से बताया जा रहा है कि प्राइवेट सिक्योरिटी का टेन्डर हरिओम तिवारी की सिक्योरिटी एजेंसी का है। खड़िया परियोजना कोयला खदान के ओबी वर्कशाप मे कबाड़चोरों ने मंगलवार सुबह स्टोर रूम का ताला तोड़कर चोरी किया। खदान में पेट्रोलिन्ग कर रहे एनसीएल खड़िया के सिक्योरिटी एसआई राधेमोहन जब वर्कशाप पहुंचे तो कबाड़ चोर वहा से पिकअप छोड़कर भाग गए। पुर्व मे भी कबाड़ चोरी की घटनाएं सुनने मे आई थी, जिसमे बीते 20 अक्टूबर को ओबी सेक्शन से दो डंफर का टर्मिनेशन कूलर कबाड़ चोरों द्वारा चोरी कर लिया गया था जिसकी कीमत लगभग दो लाख बताई गयी थी। 

आए दिन एनसीएल के प्राइवेट सिक्योरिटी को कर्नल से पेटी पर लेकर चला रहे सुरक्षा एजेंसियों की मिलीभगत से कबाड़ माफियाओं को संरक्षण देकर खदान मे कबाड़-डीजल की चोरी कराई जा रही है। सवाल यह उठता है कि बिना परमिट के खदान मे कबाड़ माफ़िया की गाड़ी प्रवेश कैसे करती है? खदान मे लगातार चोरी की घटनाओ पर अंकुश लगाने मे नकाम रही कंपनियों पर भरोसा करके एनसीएल प्रबंधन भी अपनी मौन सहमति दे रहा है। एनसीएल प्रबंधन व प्रशासन इन कबाड़ माफियाओ व पेटी पर प्राइवेट सिक्योरिटी चला रहे पेटी कान्ट्रेक्टर विजय सिंह,डब्लू व प्रवीण के ऊपर कोई ठोस कार्यवाही क्यो नही करती हैं। 

एनसीएल खड़िया परियोजना सुरक्षा विभाग द्वारा खदान से पकडी पिकअप को स्थानिय थाने मे सुपुर्द कर दिया गया।  पुलिस जांच में जुटी हुई है| सुरक्षा विभाग के अधिकारी ने कहा कि हम लोग लगातार कोयला खदान में इन कबाड़चोरों के खिलाफ सर्च आपरेशन चला रहे हैं। 
Labels:
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget