बलरामपुर : कमिश्नर के कड़े रूख से अधिकारियों-कर्मचारियों में खलबली मची


कन्हैया कुमार

सरगुजा कमिश्नर इमिल लकड़ा ने बुधवार की रात उत्तरप्रदेश व झारखंड सरहद से लगे बलरामपुर जिले के चेक पोस्टों का औचक निरीक्षण किया। कमिश्नर के साथ विभिन्न विभागों के अधिकारी देर रात जांच के लिए पहुंचे, लेकिन चेकपोस्टों में तैनात आठ कर्मचारी नदारद मिले। कमिश्नर ने इस पर कड़ी नाराजगी जताते हुए सभी कर्मचारियों पर कार्रवाई का निर्देश दिया। कमिश्नर के निर्देश के बाद कलेक्टर संजीव झा ने आठ अधिकारी-कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है। कमिश्नर के कड़े रूख से अधिकारियों-कर्मचारियों में खलबली मची हुई है।

आपको बता दें कि पिछले दिनों मुख्य सचिव आरपी मंडल ने संभाग व जिला स्तर के अधिकारियों की बैठक ली थी। इस बैठक में धान के अवैध परिवहन व भंडारण के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश देते हुए उन्होंने उच्चाधिकारियों को भी कामकाज में कसावट लाने के निर्देश दिए थे। मुख्य सचिव ने स्पष्ट कहा था कि सिर्फ अच्छा इंसान होने मात्र से ही प्रशासनिक अधिकारी दक्ष नहीं हो सकता। एक प्रशासनिक अधिकारी में कामकाज में कसावट लाने की क्षमता भी होनी चाहिए। उन्होंने कमिश्नर व आइजी को संयुक्त रूप से दौरा करने तथा कलेक्टरों को भी समय-समय पर फील्ड में जाने के निर्देश दिए थे। 

मुख्य सचिव द्वारा जारी दिशा निर्देशों के परिपालन में बुधवार रात अंबिकापुर से कमिश्नर इमिल लकड़ा उत्तरप्रदेश व झारखंड सरहद से लगे बलरामपुर जिले के चेकपोस्टों का औचक निरीक्षण किया। सबसे पहले उन्होंने रामानुजगंज के कन्हर नदी पुल पर स्थित कृषि उपज मंडी बेरियर का निरीक्षण किया। एसडीएम अजय किशोर लकड़ा, तहसीलदार भरत कौशिक के साथ उन्होंने दस्तावेजों की जांच करने के साथ ही झारखंड से आने वाली वाहनों की भी जांच की। यहां से वे उत्तरप्रदेश की सीमा से लगे त्रिशुली, सनावल, तालकेश्वरपुर, डिंडो, रामचंद्रपुर, झारा आदि गांवों का भ्रमण करने के साथ ही अस्थाई चेकपोस्टों का निरीक्षण किया। यहां कर्मचारियों को ईमानदारी के साथ ड्यूटी करने का निर्देश दिया गया। आठ अधिकारी-कर्मचारी ऐसे थे, जो कर्तव्य स्थल से नदारद रहे। कमिश्नर ने सबकी सूची तैयार कराई और मध्यरात्रि के बाद वापस बलरामपुर लौटे। यहां उन्होंने कलेक्टर से चर्चा कर ड्यूटी से नदारद कर्मचारियों व अधिकारियों को निलंबित करने का आदेश दे दिया।
कौन-कौन हुआ सस्पेंड
  • कमिश्नर के आदेश पर जिन अधिकारियों-कर्मचारियों को निलंबित किया गया है, उसमें 
  • ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी रामकृष्ण यादव एवं राजकुमार सिंह, 
  • पटवारी धरमपाल सिंह यादव, विजय यादव एवं रामप्यारे लाल नाग, 
  • सचिव बलराम सिंह एवं अनुप कुमार सिंह तथा वनपाल सीताराम मरावी शामिल हैं। 
Labels:

एक टिप्पणी भेजें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget