विंध्यनगर : अतिक्रमण की चपेट में आए सभी अवैध निर्माण,दुकान निपट गए

अतिक्रमण के समय मौजूद अधिकारीगण 
बुलडोजर के लिए सब एक समान 
गरीब को रोजी रोटी देने वाला गुमटी बना सो पीस 

आदेश के आगे बेबस हर कोई 

'समरथ को नाहीं दोष गुसाईं'। सदियों पूर्व लिखा गया यह कथन क्या आज भी प्रासंगिक है,जिस चौराहे पर अतिक्रमण हटाया गया उसी चौराहे से चंद कदमों की दूरी पर रिहायसी कॉलोनी मे हुए अतिक्रमण किसी साहेब को दिखाई नहीं पड़ता या यूं कहे देखना ही नहीं चाहते।  
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget