सामाजिक कुरीति : आठ साल की बच्ची बनी 28 साल के युवक की दुल्हन।


बिहार ब्यूरो:मुकेश कुमार
पटना।सूबे बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने बाल विवाह व दहेज प्रथा को रोकने के लिए मुहिम छेड़ रखी हैं।लेकिन सरकार के नुमाइंदे की अनदेखी के कारण सीतामढ़ी में इसकी हवा निकल गई है।सूबे के मुखिया बाल विवाह को बैन करने के लाख दावें कर लें,लेकिन हकीकत कुछ और ही बयां करती है।गौरतलब हैं कि बाल विवाह को खत्म करने के लिए सरकार ने सख्त कानून बनायी है,लेकिन इस पर अब तक रोक नहीं लगाई जा सकी है।जिसका ज्वलंत उदाहरण यह हैं कि सीतामढ़ी जिले में एक 8 साल की मासूम बच्ची की शादी 28 साल के युवक से चोरी-छिपे करा दी गई है।सबसे बड़ा सवाल यह हैं कि यह मासूम बिटिया आखिर इस रिश्ते के बोझ को कैसे ढो सकेगी? जिन हाथों में किताब और कलम होनी चाहिए,उसमें मेंहदी रचाई गयी है।सामाजिक कुरीति का यह शर्मनाक वाक्या हैं।हद तो तब हो गई जब बिहार में बने बाल विवाह कानून भी अनमोल बचपन की नीलामी पर रोक नहीं लगा पाई।
28 साल के दूल्हे के साथ 8 साल की मासूम बच्ची सात फेरे 

8 साल की मासूम बच्ची जिसे शादी शब्द का मतलब भी नहीं पता है,उसे 28 साल के युवक के साथ सात फेरों के बंधन में बांध दिया गया है। जिस मासूम के हाथों में कलम और किताब होनी चाहिए उसके माथे में सिंदूर लगाकर उसकी शादी 28 साल से भी ज्यादा उम्र के युवक से कर दी गई है।यह शर्मनाक घटना बेलसंड थाना क्षेत्र के डुमरा गांव की है।विगत 10 दिसंबर को यहां के शिव मंदिर के प्रांगण में आठ साल की मासूम बच्ची की शादी 28 साल के युवक के साथ चोरी-छिपे कर दी गयी।बताया जाता हैं कि अभय सिंह और गणेश मंडल नाम के दो दलालों ने चोरी-छिपे लड़की का बाल विवाह कराया है।वहीं लड़का पक्ष बलुआ गांव का रहने वाला है।हद तो ये है कि इस पूरी शादी में बलुआ गांव के सरपंच भी शामिल रहे।

बाल विवाह कानून की सीतामढ़ी में धज्जियां उड़ाई गयीं।

इस घटना की जानकारी मिलने पर जब स्थानीय लोग मंदिर पहुंचे तब उन्होंने दोनों दलाल को पकड़ कर बेलसंड थाने को सौंप दिया,जिसके बाद डुमरा के चौकीदार ने कार्रवाई करने के बजाय दोनों दलालों को भगा दिया।सच तो यह है कि लड़कियों की कम उम्र में शादी करने के खिलाफ बिहार में बने कानून की सीतामढ़ी में धज्जियां उड़ाई गयीं। आठ साल की बच्ची को 28 साल के युवक के साथ शादी करा कर नीतीश सरकार के बाल विवाह कानून की हवा निकाल दी।इस शादी के बाद यहां के लोगों में सरकार के सिस्टम और लड़कियों और महिलाओं के लिए काम करने वाले संगठनों में नाराजगी फैला हुआ है।
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget