मध्य प्रदेश : कमलनाथ सरकार ने राजनीति में सामाजिक सोच के महत्व को स्थापित किया है।

Madhya Pradesh: The Kamal Nath government has established the importance of social thinking in politics.


अब्दुल रशीद
मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने आम आदमी की समस्याओं को प्राथमिकता देकर राजनीति में सामाजिक सोच के महत्व को स्थापित किया है। कमलनाथ सरकार ने समाज के गरीब, कमजोर, निर्धन, निराश्रित, वरिष्ठजन और दिव्यांगों की आवश्यकताओं को समझते हुए सामाजिक सुरक्षा के दायरे को व्यापक आकार दिया है।

बुर्जुगों,और दिव्यांगों की सामाजिक सुरक्षा पेंशन को बढ़ाया। 

प्रदेश के बुर्जुगों, कल्याणियों और दिव्यांगों की आर्थिक आवश्यकताओं को समझते हुए सरकार ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि को दो गुना बढ़ाकर 300 से 600 रूपये प्रतिमाह कर दिया है। इसी प्रकार, बेटियों के विवाह के खर्च की चिंता में सहभागी होते हुए सरकार ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना में सरकारी सहायता को 28 हजार से बढ़ाकर 51 हजार रूपये कर दिया है। इस आर्थिक सहायता के लिए आय-सीमा के बधंन को भी समाप्त कर दिया गया है। 

गृहस्थी की स्थापना के लिए बेटियों को 48 हजार खाते में जमा होता है। 

बेटियों की शादी में कुल सहायता राशि में से गृहस्थी की स्थापना के लिए 48 हजार रूपये उसके खाते में जमा कराकर दिये जाते हैं और सामूहिक विवाह आयोजित करने के लिए अधिकृत निकाय को 3 हजार रूपये प्रति बेटी के मान से धनराशि उपलब्ध कराई जाती है। आदिवासी अचंलों में जन-जातियों में प्रचलित विविध प्रथाओं के तहत होने वाले विवाह, चाहे वह सामूहिक हो अथवा एकल हो, के लिये भी विवाह सहायता राशि उपलब्ध करायी जा रही है। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में वर्ष 2019 में 37 हजार 286 हितग्राहियों को 190 करोड़ 15 लाख 84 हजार रुपये उपलब्ध कराये गये। इसी प्रकार मुख्यमंत्री निकाह योजना में 1605 हितग्राही लाभान्वित हुए।

प्रदेश के 44 लाख 26 हजार 720 हितग्राहियों के खाते में पहुंचा। 

सरकार ने विभिन्न पेंशन योजनाओं में प्रदेश के 44 लाख 26 हजार 720 हितग्राहियों को सीधे उनके खाते में राशि उपलब्ध कराने की व्यवस्था लागू की है। एक साल में साढ़े चार लाख से अधिक जरूरतमंदों तक सामाजिक सुरक्षा के इस दायरे का विस्तार किया गया। इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना में पिछले एक वर्ष में 15 लाख 69 हजार 627 हितग्राहियों को बढ़ी हुई राशि उपलब्ध करायी गई। इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजना में 5 लाख 36 हजार 412 और इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय नि:शक्तजन पेंशन योजना में 99 हजार 924 हितग्राहियों को पेंशन जारी की गई। प्रदेश में 20 लाख 91 हजार 573 हितग्राहियों को समग्र सामाजिक सुरक्षा पेंशन उपलब्ध करायी जा रही है। इसी प्रकार, 55 हजार 260 हितग्राहियों को मुख्यमंत्री कन्या अभिभावक पेंशन और मंदबुद्धि/बहुविकंलागजन आर्थिक सहायता योजना में 73 हजार 977 जरूरतमंदों को पेंशन उपलब्ध करायी गई।
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget