MP: लोकसेवा की परीक्षा में पूछे गए, भील धन के लिए गैर वैधानिक व अनैतिक कार्य करते हैं? सवाल पर बवाल !

madhya pradesh public service commission,MADHYA PRADESH, URJANCHAL TIGER


मध्य प्रदेश लोकसेवा आयोग (एमपीपीएससी) के प्रश्नपत्र में भील जनजाति को लेकर पूछे गए सवाल पर विवाद खड़ा हो गया है। इसमें भीलों को आपराधिक प्रवृत्ति का बताया गया है। वहीं लिखा गया है कि भील धन उर्पाजन के लिए गैर वैधानिक व अनैतिक काम में सं​लिप्त हैं।भाजपा विधायक राम दांगोरे ने इसे समुदाय का अपमान बताते हुए पेपर तैयार करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार क्या करने की कोशिश कर रही है? पेपर तैयार करने वाले शख्स के खिलाफ ऐक्शन लिया जाना चाहिए।

ज्ञात हो की,राम दांगोरे भील जनजाति से आते हैं और वह परीक्षा में उम्मीदवार भी थे। एमपीपीएससी एग्जाम पूरे राज्यभर में 12 जनवरी को हुए थे। खंडवा केंद्र में एग्जाम में शामिल हुए राम दांगोरे ने बताया, 'प्रश्नपत्र में एक अनसीन पैसेज आया था जिसमें भील जनजाति को आपराधिक और शराबी बताया गया।' इस पर दांगोरे ने आपत्ति जाहिर की।

फोटो सोर्से - गूगल
भाजपा विधायक राम दांगोरे ने राज्य के सीएम कमलनाथ को भी आड़े हाथ लेते हुए कहा, ‘राज्य की सबसे बड़ी इस जाति की उपेक्षा की गई है।  इस परीक्षा में भील समुदाय के जीवन चक्र का उल्लेख किया गया है। वह बेहद ही शर्मिंदगी करने वाला है। मेरी मांग है कि इसके लिए राज्य के सीएम और मध्य प्रदेश लोकसेवा आयोग मांफी मांगे. मैं इस संबंध में खंडवा शहर के थाने में एफआईआर भी दर्ज कराऊंगा. साथ ही सरकार के​ खिलाफ धरना भी दूंगा।’

आपको बता दें कि भारत में भीलों की आबादी 1.6 करोड़ के करीब है जिनमें से मध्य प्रदेश में तकरीबन 60 लाख की आबादी है। यह देश में प्रभावशाली जनजाति है।
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget