सिंगरौली : समृद्धि के साथ पर्यावरण संरक्षण का संदेश देती "फूलमती की बगिया"

Phoolmati ki Bagiya,"फूलमती की बगिया"पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल


मध्य प्रदेश सरकार पर्यावरण संरक्षण के लिए सरकार लगातार प्रयासरत है।सरकार के इन प्रयासों में अब आमजनता भी कई तरह से सहयोग दे रही है। 
अब्दुल रशीद 

सिंगरौली जिले के देवसर विकासखण्ड की ग्राम पोखरा निवासी फूलमती सिंह ने जैविक खेती को अपना कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया है। फूलमती ने अपनी एक एकड़ की बगिया में कई तरह की सब्जियां लगाई है। पिछले 8 वर्षों से फूलमती केवल गोबर की खाद का उपयोग अपनी फसलों में कर रही हैं। उनकी बगिया की सब्जियों का स्वाद ही अनूठा है। 

प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने पोखरा गांव के भ्रमण के दौरान फूलमती की बगिया देखी थी। फूलमती की जैविक बगिया से लहलाहते टमाटर का स्वाद लेने से  मंत्री कमलेश्वर पटेल  स्वयं को नही रोक सके। उन्होंने फूलमती के प्रयासों की सराहना की।

आमदनी के साथ पर्यावरण संरक्षण का संदेश

अनुसूचित जनजाति की एक एकड़ खेती की किसान फूलमती ने सब्जी की खेती और पशुपालन को आजीविका का आधार बनाया है। महगे तथा हानिकारक उर्वरक छोड़कर फूलमती ने अपनी बगिया में केवल गोबर की खाद का उपयोग किया। उनकी बगिया में टमाटर, बैगन, गोभी तथा मिर्च की फसल लहलहा रही है। प्याज लगाने का कार्य किया जा रहा है। जैविक खेती अपनाने से खेती की लागत घटी है। जैविक उत्पाद होने के कारण सब्जियां स्वादिष्ट होती हैं इन्हें बाजार में अच्छे दाम मिलते हैं। फूलमती ने जैविक खेती को अपना कर अच्छी आमदनी प्राप्त करने के साथ पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया है।

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget