अवैध शराब की बिक्री करने वालों पर साहेब, मेहरबान क्यों...

अवैध शराब की बिक्री करने वालों पर साहेब, मेहरबान क्यों...


श्रीराम विश्वकर्मा

सिंगरौली(बैढ़न)।।पुलिस अधीक्षक कार्यालय के चंद कदमों की दूरी पर एमपीईबी के कार्यालय जाने के लिए एक मोड़ है।इस मोड़ पर कुछ दुकाने हैं और साथ में सब्जियों की दुकानें भी, जहां पर पास के अवसीय कालोनी के लोग ताज़ा सब्जी ख़रीदने के लिए आते हैं। ठीक इसी मोड़ पर एक और गुमटी है जो सभय समाज़ के लोगों के सुरक्षा,सम्मान की दृष्टिकोण से बिल्कुल ठीक नहीं। ऐसा इसलिए,क्योकि साम ढलते इस गुमटी पर लग जाता है नशेड़ियों का जमावड़ा। 

आवासीय परिसर से करीब और जिला मुख्यालय के चंद कदमों की दूरी पर आखिर किसकी मेहरबानी से खुलेआम सजाती है नशे(शराब) की दुकान। सूत्र बताते हैं की यह दुकानदार शराब के साथ साथ गांजा भी बिक्री करता है। बताया जाता है कि,यह अवैध शराब की दुकान नवजीवन बिहार के एक कथित ठेकेदार के द्वारा चलवाया जाता है और कोई इस तरह के असामाजिक गतिविधियों का विरोध करता है तो कथित ठेकेदार धमकी देते हुए चुप्पी साधने के लिए मजबूर करता है। 
क्या आबकारी विभाग वैध लाइसेन्स के साथ अवैध शराब दुकान चलाने का भी सहमति देता है यदि नहीं तो किसी शराब ठेकेदार को इतनी हिम्मत कौन देता है के वह खुलेआम लोगों को देख लेने की बात करता है। 
जिले के सबसे सुरक्षित इस क्षेत्र में इस तरह के अवैध कारोबार का खुलेआम होना और जिम्मेदारों के गुर्गों का उस दुकान की परिक्रमा करना आजकल चर्चा का विषय बना हुआ है। अब देखना है जिम्मेदार इस तरह के अवैध कारोबारियों पर कोई ठोस कार्यवाही कब तक करते हैं।
Labels:
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget