कोतवाली पुलिस को चोरी एवं नकबजनी के चार प्रकरणों में मिली बड़ी सफलता


बैढ़न से श्रीराम विश्वकर्मा

सिंगरौली(बैढन)।। बैढ़न कोतवाली को चोरी एवं नकबजनी (सेंध मारी कर चोरी करने वाला) के चार महत्वपूर्ण प्रकरणों में सफलता हाथ लगी है जिसमे एक अपचारी विजय भाट को गिरफ्तार किया गया है तथा अपचारी (अविश्वासी व्यक्ति जो समाज से अलगथलग रहता हो) द्वारा पूछताछ पर चार प्रकरणों का खुलासा हुआ है।

उक्त चोरी की वारदातों के खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक अभिजीत रंजन ने बताया कि दिनांक 30.01.2020 को विजय कुमार यादव पिता रामानुज यादव निवासी जोगियानी थाना माड़ा की मोटरसाइकिल क्रमांक MP66MA6224 जिसका कीमत करीबन 50,000 रुपये अज्ञात व्यक्ति के द्वारा चोरी कर लिया गया है जिसमे फरियादी की सूचना पर कोतवाली बैढ़न में अपराध क्रमांक 95/20 धारा 379 भा.द.वि. का प्रकरण पंजीबध्द कर अनुसंधान में लिया गया।

दिनांक 23.01.2020 को फरियादी सुरेंद्र सिंह पिता राजेन्द्र सिंह उम्र 42 वर्ष निवासी कुसहा जिला रीवा हाल बलियरी बैढ़न के मकान में अज्ञात व्यक्ति घुसकर उसके सैमसंग एवं जियो कंपनी जिसकी कीमत 25000 रुपये थी अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ अपराध क्रमांक 98/20 धारा 457,380 भा.द.वि. मामला पंजीबध्द किया गया।  

28.01.2020 को फरियादी रामजन्म शाह पिता हृदयलाल शाह उम्र 18 वर्ष निवासी रेलवे क्रासिंग के पास गनियारी के मकान से अज्ञात व्यक्ति द्वारा दो नग मोबाइल जिसमे से रेडमी y2 एवं सैमसंग मोबाइल फ़ोन कीमत 25000 रुपये चोरी किया गया था जिसमे कोतवाली बैढ़न में अपराध क्रमांक 99/20 धारा 457,380 भा.द.वि. का प्रकरण पंजीबध्द किया। 
देखिए, वीडियो


तीनो मामलों में कोतवाली पुलिस सख्ती दिखाए हुए मुखबिर की सूचना पर परिवर्तित नाम विजय भाट पिता राजेश भाट उम्र 16 वर्ष निवासी बलियरी थाना बैढ़न को पुलिस कस्टडी में लेकर पूछताछ की जिसमें  कब्जे से चोरी की गई मोटरसाइकिल एवं 4 नग मोबाइल बरामद किया गया जिसकी कुल कीमत 1,50,000 है जिसे कोतवाली पुलिस के द्वारा जप्त किया गया ।

यह अपचारी (अविश्वासी व्यक्ति जो समाज से अलगथलग रहता हो)अपराधी पुर्व में भी चोरी एवं नकबजनी(सेंध मारी कर चोरी करने वाला) की आधा दर्जन वारदातों को बैढ़न एवं शक्तिनगर उत्तरप्रदेश में अंजाम दे चुका है तथा करीबन दो वर्ष तक रीवा एवं राबर्ट्सगंज जेल/किशोर सुधार गृह में निरुद्ध रह चुका है तथा अभी करीबन एक माह पूर्व रीवा किशोर सुधार गृह से रिहा हुआ था।
प्रतिक्रियाएँ:

एक टिप्पणी भेजें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget