21 दिन नहीं संभले तो 21 साल पीछे चले जाएंगे - प्रधानमंत्री

21 दिन नहीं संभले तो 21 साल पीछे चले जाएंगे - प्रधानमंत्री


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम संबोधन में कहा कि कोरोनावायरस के फैलाव को रोकने के लिए अगले 21 दिनों तक पूरी तरह लॉकडाउन करने का फैसला किया गया है।उन्होंने कहा कि इससे लड़ने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने के लिए 15 हज़ार करोड़ के पैकेज का एलान किया है। उन्होंने कहा कि इस वक्त सभी राज्य सरकारों को स्वास्थ्य सेवाओं को ही पहली प्राथमिकता देनी चाहिए। 21 दिन नहीं संभले तो 21 साल पीछे चले जाएंगे,कई परिवार तबाह हो जाएंगे।
बाहर निकलना क्या होता है ये 21 दिन भूल जाएं. घर में रहें, घर में रहें, एक ही काम करें, घर में ही रहें। 
प्रधानमंत्री,नरेंद्र मोदी

‘कोरोनावायरस आग की तरह फैलती है’

कोरोनावायरस को लेकर पीएम ने आगे कहा कि,शुरू में इस बीमारी का पता नहीं लगता, इसलिए घर में रहिए। ऐसे में जाने-अनजाने बाकी लोग संक्रमित हो जाते हैं। WHO का एक और आंकड़ा अहम है. पहले एक लाख के केस सामने आने में 67 दिन लगे, फिर सिर्फ 11 दिन में दूसरे एक लाख लोग संक्रमित हुए। WHO के मुताबिक एक संक्रमित व्यक्ति एक हफ्ते में सैकड़ों तक इस बीमारी को पहुंचा सकता है, यानी ये आग की तरह तेजी से फैलता है।

‘21 दिन भूल जाएं- घर से निकलना क्या होता है’

PM मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान करते हुए कहा कि, "21 दिन नहीं संभले तो 21 साल पीछे चले जाएंगे. कई परिवार तबाह हो जाएंगे। बाहर निकलना क्या होता है ये 21 दिन भूल जाएं। घर में रहें, घर में रहें, एक ही काम करें, घर में ही रहें. घर के दरवाजे पर लक्ष्मण रेखा है। बाहर एक कदम रखा तो घर में आ सकती है बीमारी।"

‘गरीबों के लिए संकट की घड़ी’

PM मोदी ने देश को संबोधित करने के दौरान राज्य सरकारों का जिक्र करते हुए कहा कि, "कोरोना वैश्विक महामारी के हालात में सरकारें तेजी से काम कर रही हैं।  रोजमर्रा की जिंदगी में असुविधा न हो, इसकी कोशिश कर रही है। जरूरी चीजों की कमी न हो, इसके लिए उपाय किए गए हैं। आगे भी उपाय किए जाएंगे।" इसके अलावा पीएम ने गरीबों पर पड़ने वाले असर का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा,
“गरीबों के लिए संकट की ये घड़ी मुश्किल वक्त लेकर आई है। हम उनकी मदद कर रहे हैं। हेल्थ सिस्टम बेहतर करने के लिए हम काम कर रहे हैं। कोरोना के लिए स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर करने के लिए- 15,000 करोड़ का फंड मुहैया कराया गया है।”
प्रतिक्रियाएँ:

एक टिप्पणी भेजें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget