दुर्घटा मंदिर में आस्था के नाम पर युवक ने अपने जीभ को किया मां के चरणों में समर्पित।


सरई से धर्मेंद्र शाह

कोरोना वायरस से फैली दुनिया भर में महामारी के मद्देनजर पूरे देश मे लॉक डाउन है,इसी के तहत सिंगरौली जिले के बरगवां स्थित दुर्घटा मंदिर  भी बंद किया गया है।  मंदिर बंद होने के बावजूद भी एक युवक भक्त द्वारा मां के चरणों में अपने जीभ को ब्लेड से काट कर समर्पित करने का मामला प्रकाश में आया है।आपको बता दूं कि ग्राम गिधेर निवासी शेषमणि पनिका जो कि अपने भक्ति को साबित करने के लिए अपने ही जीभ को काटकर मां के चरणों में समर्पित किया है।

क्यों युवक ने जीभ मां के चरणों में समर्पित किया है।

युवक का जीभ कट जाने के बाद भी युवक का बोलचाल बंद नहीं हुआ है। इसे मां का चमत्कार कहें या फिर युवक का साहस। युवक शेषमणि ने बताया के सपने में दुर्घटा देवी माँ आकर बोली कि तुम अपना जीभ हमें चढ़ाओ और उन्हीं का आज्ञा पालन करके मैं अपनी जीभ को मां के चरणों में समर्पित किया है।

क्या हुआ था 

मंदिर के पुजारी ने बताया कि, युवक सबसे पहले मेरे पास आया और बोला मंदिर का फाटक खोल दीजिए लेकिन लॉक डाउन के चलते मैंने मंदिर का फाटक नहीं खोला, उसके बाद उसने ब्लेड से अपनी जीप को काट लिया। तत्पश्चात मैंने डायल 100 को सूचना दिया। उसके बाद पुलिस आई और इन्हें ले जाने के लिए बोली लेकिन ईनका कहना था कि हम 4:00 बजे तक यही रुकेंगे और मां को प्रसाद चढ़ा कर जाएंगे।
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget