थूकना एक सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरा है !


अब्दुल रशीद

विश्वव्यापी महामारी कोरोना के संक्रमण फैलने की आशंका से सिंगरौली जिले में सार्वजनिक स्थलों पर तंबाकू,गुटखा और सिगरेट के सेवन को कलेक्टर ने आदेश जारी कर  पूर्ण रूप से प्रतिबंधित किया।

थूकना एक सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरा है। 

तंबाकू का सेवन जन स्वास्थ्य के लिए बड़े खतरे में से एक है थूकना एक सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरा है और संचारी रोगों के फैलाने का एक प्रमुख कारण है। तंबाकू सेवन करने वाले की प्रवृत्ति जहां-तहां थूकने की होती है। थूकने के कारण कई गम्भीर बीमारीयों जैसे कोरोना,इंसेफलाइटिस,यक्ष्मा,स्वाइन फ्लू इत्यादि के संक्रमण के फैलने की संभावना ज्यादा होती है। तंबाकू सेवन करने वाले लोग गंदगी फैलाकर वातावरण को दूषित करते हैं जिससे विभिन्न प्रकार के बीमारियों के फैलने के लिए उपयुक्त परिस्थिति निर्मित होती है।

कारावास के साथ लग सकता है जुर्माना। 

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना  वायरस(COVID 19) को विश्वव्यापी महामारी घोषित किया जा चुका है तथा भारत सरकार एवं मध्य प्रदेश सरकार द्वारा इस विश्वव्यापी महामारी के रोकथाम एवं बचाव हेतु कई तरह के दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।

भारतीय दंड संहिता की धारा 268 289 के अनुसार कोई भी व्यक्ति यदि इस ऐसा विधि विरुद्ध अथवा उपेक्षा पूर्ण कार्य करेगा जिससे जीवन के लिए संकट पूर्ण रोग का संक्रमण फैलना संभव हो,उस व्यक्ति को 6 माह अवधि तक कारावास एवं/अथवा रु 200 तक का जुर्माना से दंडित किया जा सकता है।

सिगरेट एवं अन्य तंबाकू उत्पादन अधिनियम (कोटपा) 2003 की धारा 4 के अनुसार सभी सार्वजनिक स्थल पर धूम्रपान प्रतिबंधित है। प्रतिबंधित स्थलों पर धूम्रपान निषेध का उल्लंघन करने पर दंड स्वरूप ₹200 तक का जुर्माना लगाने का प्रावधान है।

विदित हो कि तंबाकू सेवन के उपरांत उसे यत्र-तत्र थूकने को निषिद्ध करने के साथ वातावरण को स्वच्छ रखने में सहयोग मिलेगा। साथ ही यह कदम राज्य सरकार के करोना जैसी महामारी से बचने तथा "स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत" अभियान के अहम योगदान होने के साथ ही जन स्वास्थ्य की उच्च गुणवत्ता सुनिश्चित करेगा।

किन स्थलों पर होगा  धूम्रपान निषेध होगा 

उक्त संदर्भ में जन स्वास्थ्य की रक्षा के लिए कोरोना COVID 19 के रोकथाम व बचाव हेतु एपिडेमिक एक्ट 1897 एवं मध्य प्रदेश एपिडेमिक डिसीजेेेज COVID19 विनियम 2020 तथा मध्य प्रदेश पब्लिक हेल्थ एक्ट 1949 की धारा 71(1)के सुुसंगत प्रावधानों के अंतर्गत आगामी आदेश तक जिले के सभी सरकारी गैर सरकारी कार्यालयों एवं परिसर, सभी स्वास्थ्य संस्थान एवं परिसर, सभी शैक्षिक परीक्षण संस्थान एवं परिसर,सभी थाना एवं सार्वजनिक स्थान जैसे मनोरंजन केंद,पुस्तकालय,स्टेडियम,होटल,शॉपिंग मॉल,कॉफी हाउस,निजी कार्यालय ,न्यायालय परिसर,रेलवे स्टेशन, सिनेमा हॉल, सभागृह, एयरपोर्ट, बस स्टॉप, लोक परिवहन,में किसी भी प्रकार का तंबाकू पदार्थ सिगरेट गुटका पान मसाला आदि का उपयोग किया जाता है यदि कोई भी अधिकारी कर्मचारी नियम का उल्लंघन करते हैं तो उन पर नियमानुकूल कार्यवाही किया जाएगा। 
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget