रिलायंस कम्पनी का कर्मचारी,लाखो के ठगी के मामले मे हुआ गिरफ्तार।


ओम प्रकाश शाह

सिंगरौली। कोतवाली पुलिस को मिली बड़ी सफलता,ऑनलाइन धोखाधड़ी करके लाखो ठगी करने वाले शातिर ठग को पकड़ा। 

क्या था मामला

जबलपुर निवासी शिखर शर्मा क्षेत्रीय निधि आयुक्त के द्वारा  शिकायत कराया गया की अनिल प्रजापती निवासी वारानासी यूपी के बैंक खाते से मधुर पल्लवी पिता रामचंद पल्लवी निवासी नौगढ़ सिंगरौली के द्वारा पैसे निकाले गये है,पुलिस अधीक्षक को उक्त मामले मे जानकारी मिली तो पुलिस अधीक्षक ने मामले को गंभीरता से लेते हुये उक्त मामले की जांच करने के लिए कोतवाली प्रभारी को ज़िम्मेदारी सौपी,कोतवाली पुलिस को विवेचना के दौरान पता चला की मधुर पल्लवी एक फैक खाता है जिसे सत्य प्रकाश सोनी पिता भगवान दास सोनी निवासी शासन बैढन ने संचालित किया है। 

बैंक अधिकारियों की मदद से आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे

कोतवाली प्रभारी ने आरोपी को पकड़ने के लिए एक योजना बनाई । उसके पूर्व कोतवाली पुलिस ने एक्सिस बैक के अधिकारियों को अवगत कराते हुये मधुर पल्लवी नाम के फर्जी खाते को बंद करवाया ताकि आरोपी खाते से पैसे न निकाल सके खाता बंद होने पर जब आरोपी बंद हुये खाते को खोलवाने के लिए बैंक के अधिकारियों से संपर्क किया तो बैक के अधिकारियों ने आरोपी को पुलिस से पकड़वाने के लिए आरोपी को आधरकार्ड सहित बैंक मे बुलाया,जब आरोपी पल्लवी का आधरकार्ड लेकर बैंक पहुचा तो कोतवाली पुलिस ने घेराबंधी करके आरोपी को धरदबोचा। 

ऐसे फर्जी डोकोमेन्स बनाकर,बैंक मे खोला खाता 

कोतवाली पुलिस ने जब आरोपी से सख्ती से पूछतास की तो आरोपी ने अपना राम सत्य प्रकाश सोनी पिता भगवान दास सोनी निवासी शासन बताया । आरोपी ने आगे बताया की फर्जी आधारकर्ड बनाने के लिए पहले उसने अपने मोबाईल फोन से अन्य व्यक्ति का आनलाइन से आधारकार्ड डाउनलोड करके उसको इजीट करके अपना फोटो लगाकर मधुर पल्लवी पिता रामचंद पल्लवी निवासी नौगढ़ के नाम से फर्जी आधारकार्ड तैयार किया उसके बाद उस डाकोमेंट के आधार पर एक्सिस बैंक वैढन मे अपना खाता खुलवाया,बैंक मे खाता खुलते ही शुरू कर दिया धोखाधड़ी व ठगी का खेल। 

आरोपी ऐसे लोगो को बनाता था अपने ठगी का शिकार

आरोपी लोगो को अपने ठगी का शिकार बनाने के लिए उन व्यक्तियों के संपर्क मे रहने लगा जो आनलाइन ईपीएफ से पैसे निकालते  थे,ऐसे लोगो का मोबाइल नंबर पता करके बढ़े सावधानी से अपने मोबाइल फोन से संपर्क कर खाते का यू.ए.एन. नंबर ओर पासवर्ड की जानकारी लेकर उनके खाते मे आनलाइन इंट्रीकर रिक्वेस्ट भेजकर उनके खाते से पैसे अपने फर्जी वाले खाते मे पैसा ट्रांसफर कर लेता था। 

आरोपी ने इनको बनाया अपने ठगी का शिकार 

आरोपी ने बड़े चालाकी से अनिल कुमार प्रजापती निवासी वाराणसी के खाते से 9427 रु ,गौरव माथुर निवासी हैदराबाद के खाते से 54703 एव 21601 रु,रामावतार यादव निवासी दिल्ली साउथ के खाते से 22000 रु ,श्रीधर मनोहर निवासी नासिक के खाते से 1700 रु । के साथ धोखाधड़ी करके ठग लिया लाखो रु। 

आरोपी रिलायंस शासन पवार मे करता था काम 

कोतवाली पुलिस को जांच के दौरान यह पता चला की पकड़ाया हुआ आरोपी रिलायंस शासन पावर लिमिटेड का कर्मचारी है जो हाउस किपिग का करता था जिसका ईपीएफ का खाता खुला था जिससे ईपीएफ से कैसे पैसे निकालते है जानकारी थी जिसका ही फायदा उठाकर आरोपी लोगो को अपने ठगी का शिकार बनाता था। 

आरोपी के विरुद्ध मामला पंजीबद्ध

कोतवाली पुलिस ने पकड़े गये आरोपी के विरुद्ध अ.क्र. 372/020 धारा 419,420,467,468,471 के तहत मामला पंजीबद्ध किया ओर आरोपी को न्यायलाय मे पेश किया ।

बैंक के अधिकारियों की बड़ी लापरवाही,फर्जी डाकोमेंट पे खोल दिया युवक का खाता 

सबसे बड़ा सवाल आखिर कैसे फर्जी डोकोमेंट (रिकार्ड) से एक्सिस बैंक अधिकारियों ने किसी का खाता खोल दिया क्या बैंक अधिकारियों द्वारा आरोपी द्वारा दिये गये डोकोमेंट (रिकॉर्ड) का भेरिफ़ाई नही किया गया था अगर किया गया था तो कैसे आरोपी का खाता खोल दिया गया । वही कुछ जानकार लोगो का कहना है की बैंक अधिकारियों के बिना मिली भगत से किसी भी व्यक्ति का फर्जी डोकोमेंट से खाता खुल जाना असंभव है।
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget