जिले मे ऐस डाईक टूटने जैसी घटनाओ की दोबारा पुनरावृत्ति न हो - राजीव रंजन मीणा

जिले मे ऐस डाईक टूटने जैसी घटनाओ की दोबारा पुनरावृत्ति न हो - राजीव रंजन मीणा


बैढ़न कार्यालय।। जिले मे एस डाईक टूटने एवं विस्फोटक पदार्थो संबंधित घटनाओ की पुनरावित्त न हो इसके लिए जिले मे कार्यरत एनसीएल एनटीपीसी सहित अन्य औद्योगिक कंम्पनिया अपने अपने परियोजनाओ मे समुचित व्यवस्थाये सुनिश्चित करे। यदि ऐसी घटनाओ की दोबारा पुनरावृत्ति होती है तो संबंधित कंम्पनियो के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी उक्त आशय का निर्देश कलेक्ट्रेट सभागार मे आयोजित आपदा प्रबंधन की बैठक के द्वौरान कलेक्टर राजीव रंजन मीणा के द्वारा जिले मे कार्यरत कंम्पनियो के उपस्थित प्रतिनिधियो को दिया गया।

ज्ञात हो कि कलेक्टर के अध्यक्षता एवं पुलिस अधीक्षक टी.के विद्यार्थी के उपस्थित मे जिले मे कार्यरत औद्योगिक कंम्पनियो के प्रतिनिधियो के साथ आपदा प्रबंधन की बैठक आयोजित हुई।कलेक्टर ने उपस्थित औद्योगिक कंम्पनियो के अधिकारियो से परिचय प्राप्त कर अलग अलग ऐसडाईक राशायनिक कैमिकल रिसाव संबंधी आग, भूकंम्प संबंधी परियोजना अंतर्गत विस्फोटको मे विस्फोट से संबंधी कार्य योजना भू अर्जन पुनर्वास व्यवस्थापन सहित अन्य संभावित प्राकृतिक आपदाओ से निपटने के लिए की गई व्यवस्थाओ के संबंध मे जानकारी ली गई।

कलेक्टर ने कहा कि पूर्व मे एनटीपीसी रिलायंस पावर, एस्सार पावर के ऐसडाईक के टूटने की घटना हुई थी। साथ ही कुछ वर्ष पूर्व रासायनिक कैमिकल मे विस्फोट की भी घटना घटित हुई है। जो खेद जनक है भविष्य मे ऐसी घटनाओ की पुनरावित्त न हो इसके लिए पर्याप्त मात्रा मे आपदा प्रबंधन से संबंधित सामग्री का भण्डारण सभी परियोजनाये अपने अपने यहा सुनिश्चित करे। उन्होने कहा कि सभी परिजयोनाओ मे समय समय पर मार्कड्रील होती रहे। तथा आकास्मिक अगर कोई दुर्घटना घटित होती है उसे किस प्रकार तत्काल कंन्ट्रोल करना है इसके लिए परियोजनाओ मे की गई तैयारियो की जानकारी अपर कलेक्टर के पास उपलंब्ध कराये।जिससे आपके सेफ्टी प्रोटोकाल को जॉचा जा सके।

कलेक्टर ने कहा कि वर्षात के पूर्व की तैयारियो की विभाग प्रमुखो के द्वारा गहनता से अवलोकन किया जाये। कलेक्टर ने निर्देश दिया कि सभी परियोजनाये बख्तर वाहनो एवं मार्कड्रील के अभ्यास की फोटो भी उपलंब्ध कराये। उन्होने निर्देश दिया कि सभी परियोजनाये अपने बनाये गये ऐसडाईक के चारो ओर विद्युत व्यवस्था करे। तथा निर्धारित क्षेत्र मे कितना पानी का भराव होना चाहिये इस पर सतत निगरानी बनाये रखे।इसके साथ ही इन स्थलो तक पहुचने के लिए मैप या बोर्ड लगाये रेस्क्यू टीम सोर्सज के साथ साथ सभी परियोजनओ मे पर्याप्त वाहन की व्यवस्था भी उपलंब्ध रहे ताकि तत्कालीन घटनाओ को रोकने मे किसी प्रकार की देरी न हो। वही उन्होने कैमिकल ट्रन्सपोर्टिग करने वाले वाहनो मे पर्याप्त सेफ्टी की व्यवस्था करने के निर्देश दिये।

बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक टी के विद्यार्थी ने उपस्थित कंम्पनियो के प्रतिनिधियो कहा कि अभी हाल ही मे रिलायंस पावर के एसेडाईक टूटने से जो घटना घटित हुई थी।तत्कालीन राहत एवं बचाव के समय मे कई कठिनाईया सामने आई थी। अब ऐसी स्थिति उत्पन्न ना हो आप सब अपने यहा पर्याप्त सुरंक्षा व्यवस्था बनाये रखे। उन्होने कहा कि यदि किसी परियोजना के ऐसडाईक मे किसी भी प्रकार का रिसाव आदि हो तो उसका तत्काल तकनीकी का उपयोग करते हुये सुधार कराये। जिला प्रशासन द्वारा समय समय पर जारी निर्देशो का गंभीरता से पालन करे।

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि अगर कही कोई भी दुर्घटना घटित होती है सबसे पहले मानवीय संवेदनाओ का भी ख्याल करे।आकास्मिक घटना होने पर सबसे पहले फोर्स को पहुचना पड़ता है जिसके लिए पर्याप्त मात्रा मे बख्तर गड़ियो की व्यवस्था करे। उन्होने निर्देश दिया कि सभी परियोजनओ मे लगातार मार्कड्रील अभ्यास होता रहे।

इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज, अपर कलेक्टर बी.के पाण्डेय, निगमायुक्त शिवेन्द्र सिंह, सहायक कलेक्टर संघप्रिय, संयुक्त कलेक्टर व्हीपी पाण्डेय, डिप्टी कलेक्टर एस.पी मिश्रा, एसडीएम ऋषि पवार, नीलेश शर्मा, डिप्टी कलेक्टर रवि मालवीय, जिला परिवहन अधिकारी एसपी दुबे, मुख्य स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी आर.पी पटेल सहित एनसीएल, एनटीपीसी एवं विभिन्न औद्योगिक कंम्पनियो के अधिकारी उपस्थित रहे।

सासन पॉवर ऐश डैम हादसा मामले में "ऊर्जांचल टाईगर" द्वारा किया गया पूरा कवरेज़ एक क्लिक कर पढ़ सकते हैं।
Reactions:

टिप्पणी पोस्ट करें

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget